meerut-baval_1466252108

मेरठ | नोट बंदी का आज 22वा दिन था. लेकिन बैंकों और एटीएम में हालात अब भी जस के तस बने हुए है. बैंक में पैसा आते ही खत्म हो जाता है वही कुछ एटीएम में कैश होता है तो कुछ के ताले अभी खुले ही नही. कल लोगो की सैलरी बैंक खातो में आनी है. ऐसे में बैंकों और एटीएम के सामने भीड़ बढ़ने की सम्भावना काफी ज्यादा है. कुछ जगहों पर लोग अब भी संयम बरत रहे है वही कुछ जगहों पर लोगो का संयम अब जवाब देने लगा है.

मेरठ में नोट बंदी से लोगो का संयम अब टूटने लगा है. इसी का नतीजा था की आज बैंक में कैश खत्म होने पर लोगो ने खूब बवाल काटा. यहाँ तक की बैंक में ताला जड़ दिया गया और तोड़फोड़ की गयी. हालात बेकाबू होते देख पुलिस बल को बुलाया गया लेकिन भीड़ ने उन पर भी पथराव कर दिया . इसमें सीओ समेत तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए.

नौचंदी थाना क्षेत्र के अतर्गत हापुड़ अड्डा चौराहा स्थित सिंडिकेट बैंक की शाखा है. इस बैंक के सामने सुबह से लम्बी लाइन लगी हुई थी. करीब 12 बजे बैंक के सामने नॉटिक चस्पा दिया गया की कैश खत्म हो गया है. इससे लाइन में लगे लोगो में आक्रोश फ़ैल गया और उन्होंने बैंक कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करना शुरू कर दिया. बैंक कर्मी भी इस व्यव्हार से इतने क्षुब्ध हुए की उन्होंने बैंक को अन्दर से बंद करने का आदेश दे दिया.

हंगामा कर रहे लोगो ने बैंक के अन्दर घुसने की कोशिश की , जब उनको रोका गया तो उन्होंने बैंक का शटर गिरा उस पर ताला लगाने की कोशिश की. यही नही लोगो ने बैंक में भी तोड़फोड़ की. इस दौरान वहां खड़े पुलिस वाले मूक दर्शक बने रहे. जब हालात बेकाबू हो गए तो उन्होंने कुछ और पुलिस बल वहां भेजने के लिए कहा. इसी बीच लोगो ने हापुड़ रोड जाम कर गाडियों पर पथराव शुरू कर दिया और प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंका.

हालात को काबू में करने के लिए पुलिस ने हंगामा कर रहे लोगो पर लाठिया भांजनी शुरू कर दी. इससे और गुस्से में आये लोगो ने पुलिस पर ही पथराव् करना शुरू कर दिया. जिसकी चपेट में आकर सीओ सहित तीन पुलिसकर्मी घायल हो गए. हालांकि कुछ देर बाद ही हालात को नियंत्रण में कर लिया गया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें