screenshot_32

नोटबंदी की वजह से बीते दस दिनों में 47 लोग अपनी जान गंवा चुके हैं. अगर हालात नहीं सुधरे तो ये आकड़ा आगे भी बढ़ सकता हैं. वहीँ हफ्फिंगटन पोस्ट ने देश भर में नोटबंदी के कारण 55 लोगों की मौत का दावा किया हैं. इन लोगों की मौत की परिस्थितियाँ नोटबंदी से ही जुडी हुई थी.

सबसे ज्यादा मौत उत्तरप्रदेश में हुई हैं. नोटबंदी के कारण यूपी में 11 लोगों की मौत हुई हैं. जिनमे से दो लोगों ने खुदखुशी की हैं. असम, मध्य प्रदेश, झारखंड और गुजरात में नोटबंदी के कारण तीन-तीन लोगों की जान गई. जबकि तेलंगाना, बिहार, मुंबई, केरल और कर्नाटक में दो-दो लोगों को मौत का सामना करना पड़ा हैं.

और पढ़े -   गुजरात दंगो पर झूठ बोलने को लेकर राजदीप सरदेसाई ने अर्नब गोस्वामी को बताया फेंकू

इसके अलावा ओडिशा, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, राजस्थान और पश्चिम बंगाल में कुल मिलाकर सात लोगों की मौत नोटबंदी के प्रभाव की वजह से हुई है.

इन मौतों में नवजात बच्चों की मौत भी शामिल हैं और कुछ मौते पुराने नोट होने की वजह से डॉक्टर द्वारा इलाज करने से मना करने पर भी हुई हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE