चार दिवसीय दौरे पर भारत आए इराक के विदेश मंत्री इब्राहिम अल-जाफरी ने सोमवार को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. इस दौरान मोसुल में लापता हुए 39 भारतीयों का मुद्दा भी उठा.

इराक के विदेश मंत्री ने बताया कि अभी उनके पास इन लापता भारतीयों के बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं है. उन्होंनेकहा, हम 100 फीसदी यकीन के साथ नहीं कह सकते हैं कि लापता भारतीय जिंदा हैं या नहीं. हम उन्हें खोजने की पूरी कोशिश कर रहे हैं।.

और पढ़े -   तीन तलाक: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर बोला दारुल उलूम कहा, शरियत में कोई दखलअंदाजी बर्दाश्त नही

जाफरी ने कहा, हमारे पास इस बात के कोई पुख्ता सबूत नहीं हैं कि वे मारे गए हैं या फिर जिंदा हैं. इस बारे में अभी हम कोई जानकारी नहीं दे सकते हैं. हालांकि कुछ ही दिन पहले  विदेशमंत्री सुषमा स्वराज  ने लापता भारतीयों के बारें में कहा था कि मोसुल में आईएस की एक जेल में कैद हो सकते है.

सुषमा ने कहा था कि नौ जुलाई को मोसुल की आईएस से आजादी के बाद लापता भारतीयों की तलाश और रिहाई की प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा. उन्होंने कहा था कि पंजाब के रहने वाले इन 39 लापता भारतीयों के बादुश में एक जेल में कैद होने की आशंका है.

और पढ़े -   ट्रिपल तलाक असंवैधानिक नहीं, यह मुस्लिम कानून का अहम् हिस्सा: चीफ जस्टिस खेहर

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE