भारतीय चुनाव आयोग ने ईवीएम को लेकर की जा रही शिकायतों को लेकर आज सभी राजनीतिकी पार्टियों को ईवीएम हैकिंग करने का मौका देते हुए 3 जून की तारीख घोषित की है.

ज़ैदी ने कहा  कि ये चैलेंज उन सभी राष्ट्रीय और राज्य स्तर के राजनीतिक दलों के लिए है जिन्होंने हाल ही में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनावों में हिस्सा लिया था. उन्होंने कहा कि हर दल को ईवीएम हैक करने के लिए 4 घंटे का समय दिया जाएगा. कोई भी पार्टी अपने तीन प्रतिनिधि को इस चैलेंज में शामिल होने लिए भेज सकती है.

और पढ़े -   जीएसटी लागु होते ही महंगाई ने उठाया सर, जुलाई महीने में बढ़ी महंगाई

उन्होंने आगे कहा कि पार्टियों को इस बात की आजादी होगी कि वह हाल ही में हुए पांच राज्यों में चुनावों के किसी भी चार पोलिंग स्टेशनों से ईवीएम मशीन मंगवा सकती हैं. जैदी ने बताया कि राजनीतिक पार्टियां 26 जून तक ईमेल या ऑनलाइन ऐप्लिकेशन के जरिए इस चैलेंज में अपनी भागेदारी सुनिश्चित कर सकते हैं. सभी तारीख को निश्चित तारीख और वक्त अलॉट किया जाएगा. पार्टियां जिस ईवीएम की मांग करेंगी, उसे पोलिंग स्टेशन से लाते वक्त साथ सफर करने की भी मंजूरी होगी.

और पढ़े -   मोदी के भाषण पर उमर अब्दुल्ल्ला का तंज कहा, उम्मीद है उनकी दलील सुरक्षा बलों के लिए भी

इसके साथ ही आयोग ने दूसरी चुनौती देते हुए कहा कि कोई भी ये साबित कर दिखाए कि हाल ही पाँच राज्यों के चुनावों में इस्तेमाल हुई ईवीएम के साथ मतदान से पहले या मतदान के दिन छेड़छाड़ की गई. बता दें कि उत्तर प्रदेश, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में हुए चुनावों के बाद बहुजन समाज पार्टी, आम आदमी पार्टी समेत कुछ अन्य राजनीतिक दलों ने ईवीएम में छेड़छाड़ का आरोप लगाया था.

और पढ़े -   राजदीप सरदेसाई ने किया ऐसा ट्वीट की लोग पूछने लगे, क्या तुम पत्रकार हो?

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE