नई दिल्ली: संसद की कैंटीन में मिलने वाली सब्सिडी नए साल की शुरुआत के साथ शुक्रवार से खत्‍म रही है। संसद की कैंटीन को करीब 16 करोड़ रुपये की सब्सिडी दी जा रही थी, जो खत्‍म हो जाएगी और अब यह कैंटीन ‘नो प्रॉफ़िट, नो लॉस’ पर चलेगी।

sansad-centine-1.jpg.pagespeed.ic.DraaDPIfOe

रिपोर्ट के मुताबिक, खाने की नई कीमतें नॉर्थ एवेन्‍यू और साउथ एवेन्‍यू में रेलवे द्वारा चलाई जा रही कैंटीनों के जैसी ही होगी। संसद की कैंटीन में मिलने वाले व्यंजनों की कीमतें शुक्रवार से बढ़ जाएंगी। कैंटीन में सब्सिडी वाली कीमतों पर खाद्य सामग्री मिलने को लेकर समय-समय पर होने वाले विवादों को देखते हुए कीमतों में बढ़ोतरी की जा रही है। अब 18 रुपये में मिलने वाली शाकाहारी थाली की कीमत बढ़ाकर 30 रुपये कर दी गयी है जबकि 33 रुपये में मिलने वाली मांसाहारी थाली अब 60 रुपये में मिलेगी। पहले 61 रुपये में मिलने वाला थ्री-कोर्स मील अब 90 रुपये में जबकि 29 रुपये में मिलने वाली चिकन करी अब 40 रुपये में मिलेगी।

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने कैंटीन के खाने की कीमतों में बदलाव का आदेश दिया। लोकसभा सचिवालय ने कहा कि कीमतों में बदलाव छह साल बाद हो रहा है और समय समय पर कीमतों की समीक्षा की जाएगी। खुले बाजार में बेहिसाब मूल्यवृद्धि के बावजूद संसद कैंटीन में सब्सिडी के साथ परोसी जाने वाली भोजन सामग्रियों को लेकर समय-समय पर विवाद हुआ है। जिसे देखते हुए कीमतों में वृद्धि करने का फैसला लिया गया। साभार: news24online


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें