रांची | देश में लोकतंत्र के साथ साथ एक और तंत्र का राज चल रहा है जो सब पर भारी पड़ता दिख रहा है. इस तंत्र को भीड़ तंत्र कहा जाता है. यह तंत्र इतना शक्तिशाली है की इसके आगे कानून , सरकारे सब पानी मांगती नजर आती है. यही नही इस तंत्र में न्याय भी तुरंत मिलता है. अपराधियों को मौका-ए-वारदात पर ही मौत के घाट उतार दिया जाता है. और जो शख्स बच जाता है वो सारी जिन्दगी इस तंत्र से खौफ खाता रहता है.

पिछले कुछ दिनों में कई लोग इस भीड़ तंत्र का शिकार बने है. गौरक्षा के नाम पर इस भीड़ तंत्र को हर तरह का काम करने का लाइसेंस मिल जाता है. यहाँ तक की ये किसी की जान भी ले सकते है, उसका घर जला सकते है. पहलु खान से लेकर जुनैद और उमेद अंसारी तक , ऐसे न जाने कितने नाम है जो इस तंत्र का शिकार बन चुके है. लेकिन हैरानी इस बात से नही है की भीड़ तंत्र बेकाबू हो रहा है, हैरानी इस बात से है की जिन सरकारों को हमने अपनी सुरक्षा करने के लिए चुनकर भेजा है, वो लाचार नजर आ रही है.

और पढ़े -   वाराणसी में लगे मोदी के लापता होने के पोस्टर लिखा, जाने कौन सा देश तुम चले गए

देश के प्रधानमंत्री मोदी , कई घटनाओं बाद आज अपनी चुप्पी तोड़ते है लेकिन सिर्फ इतना ही कह पाते है की जब गौभक्ति ने नाम पर हत्या होती है तो मुझे तकलीफ होती है. वो यह नही बता पाते की इनको रोकने के लिए उन्होंने क्या कदम उठाये है. हालाँकि उन्होंने इतना जरुर कहा की समाज में हिंसा के लिए कोई जगह नही है और कानून को किसी को हाथ में लेने की इजाजत नही है. यह सन्देश कितना कड़ा था , इसकी बानगी कुछ घंटो बाद ही मिल गयी.

और पढ़े -   कश्मीर पर मोदी के 'गोली और गाली' वाले बयान पर भडकी शिवसेना कहा, केवल धारा 370 हटाना ही एक मात्र हल

झारखण्ड में एक मुस्लिम शख्स को गौमांस ले जाने के आरोप में भीड़ ने पीट पीटकर मार डाला. मतलब साफ़ है प्रधानमंत्री जी आप बोलते रहिये , हम अपना काम करते रहेंगे. मिली जानकारी के अनुसार अलीमुद्दीन उर्फ असगर, मांफ का व्यापारी था. वो गुरुवार को मारुती वैन में मांस लेकर जा रहा था की बाजार टांड़ गांव के पास उसको उन्मादी भीड़ ने घेर लिया और पीट पीट कर मार डाला. फिलहाल किसी भी अनहोनी घटना से बचने के लिए पुलिस ने घटनास्थल पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया है.

और पढ़े -   आरटीआई में हुआ खुलासा: बीजेपी शासित राज्यों से चोरी हुई हजारों ईवीएम

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE