kapil

कांग्रेस नेता राहुल गांधी द्वारा महात्मा गांधी की हत्या पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खिलाफ दिए गए अपने बयान को लेकर मानहानि के मामले में कपिल सिब्बल को अपना वकील नियुक्त किया हुआ हैं.

वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने सर्वोच्च न्यायालय में कहा कि राहुल गाँधी  2014 की एक चुनावी रैली में दिए गए अपने बयान के एक-एक शब्द पर कायम हैं और इस मामलें में मुकदमे का सामना करने को तैयार हैं.

और पढ़े -   पिछले तीन वर्षों में देश में धर्म और जाति के नाम पर 41 फीसदी हिंसा बढ़ी

राहुल गाँधी द्वारा मुकदमा लड़ने के फैसले के बाद कपिल सिब्बल महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे और आरएसएस के रिश्तों को सामने लाने की कोशिश में हैं. इसके लिए वह इतिहास खंगाल रहे हैं.

कपिल सिब्बल ने महात्मा गाँधी पर लिखी हुई विभिन्न लेखकों की जिनमे गाँधी के परपोते तुषार गाँधी की किताब के अलावा मार्क जे, मनोहर मलगांवकर, एस इस्लाम, कोएनराड एल्स्ट की किताबें शामिल हैं.

और पढ़े -   स्वतंत्रता संग्राम में मुस्लिमो की थी अहम् भूमिका, हिन्दुत्वादी संगठनों ने कुछ नही किया-प्रशांत भूषण

कपिल सिब्बल के अनुसार, उन्हें संघ का पर्दाफाश करने का इससे बेहतर मौका नहीं मिलेगा और इसके वह अदालत में संघ प्रमुख मोहन भागवत इन मुद्दे पर अदालत में बहस करने के लिए बुलाएँगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE