Screenshot_2

पंजाब की ड्रग्स समस्या को लेकर बनी फिल्म उड़ता पंजाब को लेकर अरविन्द केजरीवाल के समर्थन पर बोर्ड के अध्य्क्ष पहलाज निहलानी ने गंभीर आरोप लगाया है अरविन्द केजरीवाल को निशाना बनते हुए कहा हैं कि, कि मैंने सुना हैं कि इस फिल्म में आम आदमी पार्टी की ओर से फिल्म की फंडिंग की गई है. तो वही दूसरी ओर आम आदमी पार्टी का कहना हैं कि बीजेपी के कहने पर फिल्म पर रोक लगायी जा रही हैं. इससे पहले निहलानी का कहना था कि यह सब कश्यप का पब्लिसिटी स्टनन्ट है.

और पढ़े -   नोटबंदी ने निगली 15 लाख लोगों की नौकरी, 60 लाख लोगों को किया रोटी से मोहताज

सेंसर बोर्ड के रडार में फसी फिल्म उड़ता पंजाब के मामले को लेकर आज फिल्म के निर्देशक अनुराग कश्यप आज बॉम्बे हाई कोर्ट पहुंच गए.जिसके बाद कोर्ट सुनवाई के लिए दोपहर तीन बजे का वक़्त तय किया.

इससे पहले सेंसर बोर्ड के अध्य्क्ष पहलाज निहलानी के कहना है कि, इस फिल्म को लेकर बेवजह का बवाल मचाया जा रहा हैं. यह सब कुछ फिल्म कि निर्देशक अनुराग कश्यप का पब्लिसिटी स्टंट है. निहलानी ने बताया कि फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ के 73 फीसदी हिस्से को मंजूरी दी गई है. फिल्म में 89 कट की बात नहीं की गई है. मैंने अनुराग से बात नहीं की है.

और पढ़े -   सर्वदलीय बैठक में पीएम मोदी ने गौरक्षकों के खिलाफ दिया कार्रवाई का भरोसा

फिल्म में कट पैनल सदस्यों की सलाह पर निर्भर करता है. और कश्यप दुवारा लगाए गए सभी आरोप झूटे और बेबुनियाद हैं.
इस फिल्म में सेंसर बोर्ड ने एक सॉन्ग सहित 89 पर कट चलाये हैं.

साथ ही पंजाब शब्द को फिल्म के टाइटल के साथ-साथ पूरी मूवी से हटाने को कहा गया है. सेंसर बोरड़ की कमेटी का मानना है कि फिल्म में पंजाब को लेकर और पंजाब की पॉलिटिक्स को लेकर कोई शॉट्स नहीं दिखाया जायेगा.

और पढ़े -   पुंडूचेरी में कांग्रेसी कार्यकर्ताओ ने किरण बेदी को हिटलर दिखाते पोस्टर लगाये

Web-Title: Nilhani make Allegation on AAP

Key-Words: Udta Panjab, Bombay High Court, Anurag Kashyap,censor board, Nilhani, AAP


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE