ravishankar-video_647_020516110025

आर्ट ऑफि लिविग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर को नेशनल ग्रीन ट्रिव्यूनल (एनजीटी) ने बडा झटका देते हुवे आर्ट ऑफ लिविंग का 4.75 करोड़ रुपए की बैंक गारंटी का प्रस्ताव NGT ने ख़ारिज कर दिया है। साथ ही संस्था पर पांच हजार का जुर्माना लगाते हुए आदेश दिया कि वह एक हफ्ते के अंदर सारा पैसा जमा कराए।

एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग पर 5 करोड़ का जुर्माना लगाया था, जिसमें से 25 लाख आर्ट ऑफ़ लिविंग ने जमा करा दिया था, लेकिन यमुना पर हुए प्रोग्राम के बाद 4.75 करोड़ आर्ट ऑफ़ लिविंग ने नहीं दिया और कहा कि वह सिर्फ बैंक गारंटी दे सकती है।

और पढ़े -   गुजरात, हिमाचल विधानसभा चुनावों के लिए VVPAT का प्रयोग हुआ अनिवार्य

मंगलवार को मामले की सुनवाई के दौरान एनजीटी ने आर्ट ऑफ लिविंग की इस दलील को खारिज कर दिया और कहा कि आपको प्रोग्राम करने की अनुमति इसी शर्त पर दी गई थी कि आप रकम समय पर चुकाएंगे। लेकिन आप रकम चुकाने के बजाय अपने वादे से मुकर गए और फिर ये रकम न चुकानी पड़े उसके लिए आपने ढेरों याचिकाएं लगा दीं.

और पढ़े -   रोहिंग्या मामले पर हमने सुप्रीम कोर्ट में कोई हलफनामा नही दिया - रिजीजू

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE