modi in Brussels

विजय दशमी के मौके पर लखनऊ पहुंचे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आतंकवाद को मानवता का दुश्मन बताते हुए कहा कि आतंकवाद को जड़ से खत्म करने की जरूरत है. साथ ही उन्होंने कहा जो आतंकवाद को पनाह देते हैं, उन्हें भी नहीं बख्शा जा सकता.

पीएम ने कहा, ”आतंकवाद मानवता का दुश्मन हैं. भगवान राम मानवता का प्रतिनिधित्व करते हैं. भगवान राम मर्यादाओं को रेखांकित करते हैं. त्याग और तपस्या की मिशाल भगवान राम ने मिसाल पेश की.”  पीएम ने आगे कहा, ”रामायण गवाह कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ने का काम सबसे पहले जटायू ने किया. एक स्त्री का अपहरण करके ले जा रहे सामर्थवान रावण से लड़ना आतंकवाद से लड़ने जैसा ही था. हम अगर राम नहीं बन सकते तो कम से जटायू बनकर आतंकवाद पर नजर तो रख सकते हैं.”

मोदी ने कहा, ”जो लोग आज आतंकवाद को पनाह दे रहे हैं उन्हें छोड़ा नहीं जा सकता है. आतंकवाद को खत्म किए बिना मानवता की रक्षा संभव नहीं है.” उन्होंने कहा, ”आंतकवाद और दुराचार भी आतंकवाद का एक रूप हैं. इन्हें खत्म करने के लिए हमें संकल्पबद्ध होना पड़ेगा.”

पीएम ने कहा, ”श्री कृष्ण के जीवन में भी युद्ध था और राम के जीवन में भी युद्ध था. लेकिन हम वो लोग हैं जो युद्ध से बुद्ध की और जा रहे हैं. ये देश सुदर्शनचक्र धारी कृष्ण को भी युग पुरुष मानता है और चरखाधारी मोहन को भी युग परुष मानता है.”  पीएम ने भाषण के अंत में भी ‘जय श्री राम’ का जयघोष करवाया.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें