manohar-lal-khattar

हरियाणा के मुस्लिम बहुल क्षेत्र मेवात में ईद से पहले बिरयानी के सैंपल लेकर विवाद में आई खट्टर सरकार डैमेज कण्ट्रोल की स्थित में आ गई हैं. जिसके चलते इस विवाद से पीछा छुडाना चाहती हैं.

दरअसल गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष भनी राम मंगला के आदेश पर मेवात में बिरयानी में बीफ की जांच को लेकर सैंपल उठाये गए थें. लेकिन किस आदेश के तहत ये सैंपल उठाये गए इसको लेकर खट्टर सरकार विवादों में घिर गई हैं. क्योंकि गौ सेवा आयोग को सैंपल इकठ्ठे करने की अनुमति नहीं है. इसका अधिकार केवल फूड ऐंड ड्रग ऐडमिनिस्ट्रेशन (FDA) को खाद्य प्रदार्थ की गुणवता की जांच करने को लेकर हैं.

ऐसे में अब गऊ सेवा आयोग के चेयरमैन भानीराम मंगला के गुजरात रवाना होने की खबर हैं और वह चार दिन बाद वापस लोटेंगे. इसके अलावा  मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने भी खुद इस मामले को यहीं खत्म करने की बात कही हैं. और इस मामले को सुलझाने के लिए  डीजीपी डॉ. के. पी. सिंह को मेवात रवाना किया हैं.

अब सवाल यह भी है कि आखिर किस नियम के तहत आयोग ने सैंपल भरवाने के निर्देश दिए थे? और इसके पीछे मुस्लिम समुदाय को डराने की मंशा तो नहीं


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें