नई दिल्ली | आगामी राष्ट्रपति चुनावो के लिए जहाँ एनडीए ने अपने उम्मीदवार की घोषणा कर दी है वही विपक्षी दल अभी भी इसी माथापच्ची में लगे हुए है की अपना अलग उम्मीदवार उतारे या फिर सत्ता पक्ष के उम्मीदवार का ही समर्थन किया जाए. हालाँकि बिहार के मुख्यमंत्री नितीश कुमर ने विपक्षी दलों को गच्चा देते हुए बीजेपी उम्मीदवार का समर्थन करने का फैसला किया है. उधर बीजेपी ने अपने उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को विवादों से दूर और एक गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाला दलित बताया है.

लेकिन अंग्रेजी न्यूज़ वेबसाइट दवायर के अनुसार रामनाथ कोविंद में विवादों से अछुते नही रहे है. कोविंद , बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष बंगारू लक्ष्मण के पक्ष में कोर्ट में गवाही दे चुके है. तहलका डॉट कॉम के स्टिंग में पैसे लेते पकडे गए बंगारू लक्ष्मण के पक्ष में गवाही देते हुए कोविंद ने कहा था की उनको मैं 20 साल से जानता हूँ, वो बेहद ही इमानदार और साफ़ छवि के इन्सान रहे है.

कोविंद ने अपनी गवाही में यह भी कहा था की स्टिंग के बाद बंगारू ने उनसे कहा था की कुछ लोग उनको फंसाने की कोशिश कर रहे है. हालाँकि बाद में कोर्ट ने कोविंद की गवाही के बावजूद बंगारू लक्ष्मण को दोषी ठहराया था.  इसके अलावा कोविंद,  मुस्लिम और इसाइयों को मिलने वाले आरक्षण पर सवाल खड़े कर चुके है. इनके अलावा कोविंद का सार्वजानिक जीवन विवादों से दूर ही रहा है.

उधर आम आदमी पार्टी के नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास ने बीजेपी से कोविंद की उम्मीदवार घोषित करने के बाद कुछ कडवे सवाल पूछे है. शायरी के अंदाज में कुमार ने ट्वीट किया,’ सत्तर बरस बिताकर सीखी लोकतंत्र ने बात, महामहिम में गुण मत ढूंढो, पूछो केवल जात.’ दरसल कुमार विश्वास ने यह सवाल इसलिए पुछा है क्योकि कोविंद की उम्मीदवारी के समय से ही यह बात खूब बताई जा रही है की कोविंद एक दलित परिवार से आते है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE