File Photo

पटना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज हाजीपुर में रेलवे से संबद्ध 7186 करोड़ की योजनाओं का लोकार्पण, शुभारंभ और शिलान्यास किया। पटना हाईकोर्ट के शताब्दी समापन समाराह में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करने के बाद वे पटना से हेलीकॉप्टर से हाजीपुर पहुंचे।

इसके पहले कार्यक्रम में शामिल होने उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव हाजीपुर में सभा स्थल पर पहुंचे। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने प्रधानमंत्री को परियोजनाओं के शिला्न्यास हेतु हाजीपुर आने के लिए उनको धन्यवाद दिया। रेलमंत्री ने कहा कि 3 फरवरी 2002 में रेल सड़क पुल की आधारशिला बाजपेयी जी ने रखी गई थी।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि आज गंगा नदी पर दो-दो रेल पुलों का लोकार्पण प्रधानमंत्री करने जा रहे हैं। यह बिहारवासियों के लिए प्रसन्नता का विषय है। नीतीश कुमार बोले, मैं पीएम का धन्यवाद देता हूं। यह मामूली बात नहीं कि दो-दो पुल का लोकार्पण हो रहा है। आवागमन की दृष्टि से उत्तर व दक्षिण बिहार जुड़ जाएंगे।

नीतीश कुमार बोले, मेरे लिए व्यक्तिगत संतोष का विषय है। जो काम अटल जी के समय मेरे रेल मंत्री रहते आरंभ हुआ, वह आज पूरा हो रहा है। नीतीश कुमार ने कहा कि केंद्र व राज्य मिलकर विकास की गाड़ी को आगे बढ़ाएंगे। मुझे पूरा भरोसा है कि गांधी सेतु के जीर्णाद्धार के लिए भी केंद्र कुछ करेगा, इसकी उम्मीद बढ़ गई है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री बिहार की तरक्की के लिए आगे भी आपकी यात्रा होती रहे। बिहार की तरक्की के बिना देश की तरक्की संभव नहीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रिमोट से गंगा नदी पर भारत के सबसे बड़े रेल सह सड़क पुल को राष्ट्र को समर्पित किया।⁠ फिर पाटलिपुत्र लखलऊ सुपर फास्ट ट्रेन को हरी झंडी दिखायी। पीएम ने तीन रेल’सड़क पुलों का शुभारंभ किया। पाटलिपुत्र-सोनपुर रेल को हरी झंडी दिखाई।प्रधानमंत्री ने राजेंद्र पुल मोकामा का शिलान्यास किया।

शिलान्यास के बाद पीएम ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश जी के रेल मंत्री के समय का सपना आज पूरा हो रहा है। 600 करोड़ का प्रोजक्ट काफी बड़ा हो गया। पिछते 18 महीनों में करीब 34 प्रतिशत काम, जो अधूरा पड़ा था, पूरा किया गया। अगर भारत को आगामी 25-30 साल तक विकास की गाथा लिखनी है, तो पूर्वी हिंदुस्‍तान को विकसित करना होगा।

पीएम ने कहा कि भारत के विकास का नर्व सेंटर अब पूर्वी भारत है। यहां विकास की दीर्घकालीन रणनीति बनानी होगी। रेल व रोड, इंफ्रास्ट्रक्चर, विकास की नींव रखते हैं, उसे गति भी देते हैं। पिछली सरकार ने पांच साल में बिहार में रेल पर जितना खर्च किया, उससे ढ़ाईगुणा खर्च इस सरकार ने अभी तक कर दिया है।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत का विकास करने के लिए बिहार का भाग्य बदलना होगा। केंद्र व राज्य यह मिलकर करेंगे, इसका पूरा विश्वास है। इसके लिए उत्तर व दक्षिण बिहार को जोड़ने वाली तीन परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास किया जा रहा है। हम समय की सीमा में इन्हें पूरा करेंगे।

पीएम ने कहा, बिहार में दो लोकोमोटिव कारखाने चालू हो रहे हैं। लंबे समय से ये कागजों पर चल रहे थे। भाषणों में थे। अब इन दो जगहों पर 40 हजार करोड़ का एफडीआइ आने वाला है। आज के युग में गैस पाइपलाइन भी बड़ा महत्व रखती है। बिहार को गैस कनेक्टिविटी देने की दिशा में हम बहुत तेज गति से बढ़ रह रहे हैं।

नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने पांच करोड़ गरीब परिवारों को गैस का सिलेंडर देंगें। लकड़ी के चूल्हे से माताओं-बहनों के शरीर में 400 सिगरेट के बराबर रोज जाता है ।अब भी गांवों में बिजली नहीं पहुंची। यह विलासिता नहीं जरूरत है। यह जीवन का हिस्सा है। मैंनें अफसरों को कहा 1000 दिन में काम पूरा करना है। अभी 1000 दिन पूरे नहीं हुए, लेकिन 1000 गांवों में बिजली पहुंच चुकी है। इसका सबसे बड़ा हिस्सा यूपी व बिहार में है।

पीएम ने कहा, रेल की योजनाओं से बिहार को सबसे ज्‍यादा लाभ मिलेगा। 18 महीने में बिहार हमारी प्राथमिकता रही, आगे भी रहेगी, रेलवे को अब हम पुरानी नहीं रहने देंगे।बहुत ही कम समय में पूरे रेल का कायाकल्प हो जाएगा।

प्रधानमंत्री हाजीपुर के छौकिया (तेरसिया) में गंगा नदी पर दीघा रेल सह सड़क पुल के रेल भाग का औपचारिक लोकार्पण किया। इसके अलावा मुंगेर में नवनिर्मित रेल सह सड़क पुल पर साहेबपुर कमाल छोर से मालगाडिय़ों के परिचालन का शुभारंभ किया। वे मोकामा में राजेंद्र पुल के पास अतिरिक्त रेल पुल का शिलान्यास किया।

इसके अलावा प्रधानमंत्री पाटलिपुत्र जंक्शन से लखनऊ जंक्शन के लिए सप्ताह में तीन चलने वाली नई ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। 12 मार्च को इस ट्रेन का परिचालन कामर्शियल नहीं होगा। यह केवल ऑपरेशनल होगा, यानी पहले दिन इसके लिए कोई टिकट नहीं कटेगा।

– See more at: http://naidunia.jagran.com/national-pm-narendra-modi-and-cm-nitish-kumar-at-high-court-centenary-celebrations-in-patna-687585#sthash.CPcbuEgP.dpuf


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें