naroda-patiya-m27923

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात के नरोदा पाटिया दंगा मामले में आदेश जारी कर दंगों की सुनवाई छह महीने में पूरी करने का आदेश दिया. इस दंगें में मुस्लिम समुदाय के 97 लोगों की हत्या कर दी गई थी और 33 लोग घायल हुए थे.

गुजरात दंगों से जुड़े नौ मामलों में से इस मामले की जांच एसआईटी कर चुकी हैं. अगस्त 2009 में  इस मामले ने मुकदमा शुरू हुआ था. इसमें 62 आरोपियों के खिलाफ आरोप दर्ज किए गए थे. अदालत ने सुनवाई के दौरान 327 लोगों के बयान दर्ज किए थे  जिसमें पत्रकार, कई पीड़ित, डॉक्टर, पुलिस अधिकारी और सरकारी अधिकारी शामिल थे.

29 अगस्त को अदालत द्वारा फैसला सुनाया गया था बीजेपी विधायक और नरेन्द्र मोदी सरकार में पूर्व मंत्री माया कोडनानी और बजरंग दल के नेता बाबू बजरंगी को हत्या और षड़यंत्र रचने का दोषी पाते हुए सजा सुनाई थी.

यह घटना 28 फरवरी, 2002 को हुई थी. इसी दिन विश्व हिन्दू परिषद ने बंद का आह्वान किया था. जिसके बाद पुरे राज्य में मुस्लिम समुदाय के लोगों को निशाना बनाया गया था.

 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Related Posts

loading...
Facebook Comment
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें