नई दिल्ली | समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने, बुधवार को राज्यसभा में, हिन्दू देवी देवताओ को लेकर आपत्तिजनक बयान देकर हंगामा मचा दिया. उन्होंने एक कविता पाठ के जरिये हिन्दू देवी देवताओं को शराब के साथ जोड़ दिया. जिस पर सत्ता पक्ष के लोगो ने सदन में काफी हंगामा किया. उन्होंने नरेश अग्रवाल से माफ़ी की मांग करते हुए नारे लगाए की हिन्दू देवी देवताओ का अपमान नही सहेगा हिंदुस्तान.

और पढ़े -   मोदी के भाषण पर उमर अब्दुल्ल्ला का तंज कहा, उम्मीद है उनकी दलील सुरक्षा बलों के लिए भी

इसके अलावा वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी नरेश अग्रवाल के बयान की निंदा करते हुए कहा की अगर उन्होंने यह बयान सदन के बाहर दिया होता तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी होती. हालाँकि बाद में नरेश ने अपने शब्दों के लिए खेद व्यक्त कर थोड़ी भरपाई करने की कोशिश की लेकिन उन्होंने माफ़ी मांगने से इनकार कर दिया.

नरेश अग्रवाल ने एक कहानी सुनाते हुए कहा था की 1991 में एक स्कूल में गया था जिसको जेल बना दिया गया था. वहां स्कूल की दीवारों पर लिखा हुआ था,’ विस्की में विष्णु बसें, रम में श्री राम, जिन में माता जानकी और ठर्रे में हनुमान, सियावर राम चंद्र की जय’. नरेश ने सत्ता पक्ष की और इशारा करते हुए कहा की ये लाइन आपके लोगो द्वारा लिखी गयी थी.

और पढ़े -   केरल में 'लव जिहाद' मामले की जांच करेगी NIA, सुप्रीम कोर्ट ने दिया आदेश

अब इन्ही लाइनों को थोडा तब्दील कर सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है. इन लाइनों में हिंदी देवी देवताओं के नाम की जगह पैगम्बर मोहम्मद और जीसस के नाम इस्तेमाल किये गये है. लाइम्स ऑफ इइंडिया नाम के फेसबुक पेज पर अग्रवाल के बयान को इस तरह बदला गया,’ विस्की में मुहम्मद बसें, रम में मुहम्मद के खास, जिन में माता मरियम और ठर्रे में जीसस, अल्लाह हू अकबर: नरेश अग्रवाल’. फ़िलहाल ये लाइन सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही है.

और पढ़े -   लव जिहाद को झूठा मुद्दा बनाकर , चल रहा है मुस्लिम लड़कियों का धर्म परिवर्तन ! एक ही ज़िले से सैकड़ों मामले !

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE