पिछले सात महीनों से लापता हुए छात्र को तलाश करने में नाकाम रही दिल्ली पुलिस को कड़ी फटकार लगाते हुए दिल्ली हाई कोर्ट ने ये मामला अब सीबीआई के हाथों में सौंप दिया है.

जस्टिस जीएस सिस्तानी और जस्टिस रेखा पल्ली की बेंच ने नजीब अहमद की मां फातिमा नफीस की याचिका पर आदेश जारी करते हुए सीबीआई को इस पुरे मामले की जांच करने को कहा है. आदेश में यह भी कहा है कि इस सीबीआई जांच की निगरानी कम से कम डीआईजी रैंक का कोई अधिकारी करे. मामले की अगली सुनवाई 17 जुलाई को होगी.

इससे पहले शुक्रवार को भी दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस की जांच पर सवाल उठाए थे. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की जांच रिपोर्ट में प्रगति को खारिज कर दिया था. कोर्ट ने कहा था कि ऐसा लग रहा है जैसे दिल्ली पुलिस नजीब अहमद की जांच से बच निकलना चाहती है, पुलिस जांच के नाम पर कुछ नहीं कर रही है. वो सिर्फ अंधेरे में तीर चला रही है.

इस दौरान दिल्ली पुलिस ने कहा कि यदि अदालत इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपती है तो उसे कोई आपत्ति नहीं होगी. ध्यान रहे नजीब अहमद बीते साल 14 अक्टूबर को अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के छात्रों के द्वारा की गई मारपीट के बाद से ही जेएनयू कैंपस से लापता है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE