shank

शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने अयोध्या में बाबरी मस्जिद विवाद को लेकर कहा कि हिंदुओं की आस्था को ध्यान में रख मुस्लिम भाइयों को अयोध्या में राम मंदिर की जगह छोड़ देनी चाहिए.

उन्होंने आगे कहा कि यदि वे अयोध्या में श्री राम मंदिर की जगह छोड़ कर कहीं और मस्जिद बनाने को तैयार हो जाते हैं, तो वह खुद मस्जिद बनाने में सहयोग करेंगे. विश्व हिंदू परिषद के वरिष्ठ नेता प्रवीण तोगडिय़ा के बयान हिंदू सुरक्षित तो देश सुरक्षित’ पर टिपण्णी करते हुए उन्होंने कहा कि एक तरफ तो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के मुखिया यह कहते हैं कि हिंदू कोई धर्म नहीं यह एक जीवन पद्धति है और दूसरी तरफ उनसे जुड़े लोग कहते फिर रहे हैं कि हिंदू सुरक्षित तो देश सुरक्षित.

उन्होंने आगे कहा कि कहा कि हम लोगों का तर्क है कि देश के सुरक्षित होने के लिए हिंदुत्व का सुरक्षित होना बेहद जरूरी है, क्योंकि हिंदुत्व अन्य की सुरक्षा को भी महत्व देता है. स्वरूपानंद सरस्वती ने प्रवीण तोगड़िया के बयान ‘भूखे पेट सो रहे हिंदुओं के समृद्ध लोगों से एक मुट्ठी अन्न मांगेंगे’ वालें बयान की आलोचना करते हुए कहा कि अगर किसी जगह पर हिंदुओं के साथ-साथ अन्य समुदाय के लोग भी भूखे हैं, लेकिन कोई सक्षम हिंदू केवल भूखे हिंदुओं के ही पेट भर रहा है तो क्या ऐसा व्यक्ति हिंदू कहलाने योग्य है.

उन्होंने कहा कि ऐसा व्यक्ति कतई हिंदू नहीं हो सकता है, क्योंकि हिंदू धर्म हमें यह नहीं सिखाता कि आप केवल अपनों का ख्याल रखें और दूसरों का नहीं. इसलिए हिंदुत्व के सुरक्षित रहने पर ही देश सुरक्षित रहेगा.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें