hamid

मोरक्को यात्रा के दोरान अपनी यात्रा के आखिरी दिन मोरक्को की राजधानी रबात स्थित मोहम्मद वी यूनिवर्सिटी में एक व्याख्यान देते हुए उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने कहा कि, ‘‘हिंसा की विचारधाराओं और परिपाटियों’’ का सहारा लेने की तरफ भारत के मुस्लिमों का कोई झुकाव नहीं है।

उप-राष्ट्रपति ने कहा कि भारत के मुस्लिम एक हजार साल से भी ज्यादा समय से अपने देश के धार्मिक तौर पर बहुलवादी समाज में रहे हैं और आधुनिक भारत एवं एक बहुलवादी समाज के वजूद से जुड़ी वास्तविकता पर इसका प्रभाव है । इसी आधार पर एक लोकतांत्रिक राजव्यवस्था एवं एक धर्मनिरपेक्ष शासन संरचना का निर्माण हो सका ।

उन्होंने आगे कहा कि ‘आधुनिक भारत में मुस्लिमों को लेकर अनुभव यह है कि इस्लाम में आस्था रखने वाले लोग इसके नागरिक हैं, वे खुद को संविधान की ओर से दिए गए अधिकारों की गारंटी का लाभार्थी मानते हैं, राजव्यवस्था की प्रक्रियाओं में पूरी भागीदारी करते हैं और व्यवस्था के भीतर रहकर अपनी शिकायतों के समाधान के कदम उठाते हैं।

’’उपराष्ट्रपति ने मोरक्को के शोधार्थियों को विविधता की स्वीकार्यता को लेकर भारत की ओर से की गई कोशिशों की झलक से भी अवगत कराया। गोरतलब रहें कि  मोरक्को का दौरा करने वाले अंसारी भारत के पहले उपराष्ट्रपति हैं।


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें