बल्लभगढ़ | सोमवार को पुरे देश में बड़े धूमधाम के साथ ईद मनाई जा रही है. लेकिन बल्लभगढ़ के नजदीक खंदावली में लोग इतने आहत है की वो ईद की खुशिया मनाने की भी मनोस्थिति में नही है. इसका कारण है एक उन्मादी भीड़ जिसने एक परिवार के चस्मोचिराग की जिन्दगी छीन ली. बीफ ले जाने के आरोप में जुनैद की भीड़ ने पीट पीट कर हत्या कर दी. यही नही उसके भाई की भी बेरहमी से पिटाई की गयी.

इसी घटना के विरोध में खंदावली गाँव के मुस्लिमो ने ईद के दौरान विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया है. उन्होंने ईद की नमाज , काली पट्टी बांधकर पढने का फैसला किया है. उनका कहना है की हम शांतिपूर्ण तरीके से उस घटना के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन जता रहे है. उधर लखनऊ के मुस्लिमो ने भी खंदावली गाँव का साथ देते हुए काली पट्टी बंधकर ईद मनाने का फैसला किया है.

और पढ़े -   कर्नाटक में राहुल गाँधी ने किया 'इंदिरा कैंटीन ' का उद्घाटन, 5 रूपए में नाश्ता तो 10 रूपए में मिलेगा खाना

खंदावली गाँव के रहने वाले शकील के अनुसार इस इलाके में करीब 800 सालो से विभिन्न समुदाय के लोग रहते है लेकिन आज तक एक भी हिंसा की वारदात नही हुई है. लेकिन इस साल चीजे बदल गयी है. इसलिए हम जुनैद की हत्या के विरोध में काली पट्टी बांधकर ईद की नमाज पढने का फैसला किया है. उधर गाँव के सरपंच निसार अहमद ने इस विरोध प्रदर्शन पर सवाल उठाये है.

और पढ़े -   सुप्रीम कोर्ट ने मोदी सरकार से पुछा: आखिर क्यों नहीं खा सकता आम आदमी गोश्त

उन्होंने कहा की पुलिस और प्रशासन , पीडितो की हर संभव मदद कर रहा है. ऐसे में इस तरह के प्रदर्शन का कोई औचित्य नही है. हालाँकि जुनैद के भाई सनोवर खान का कहना है की हम शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे है. हम चाहते है की गाँव में शांति बनी रहे. लेकिन यहाँ कोई भी ईद मनाने की मनोस्थिति में नही है. उधर लखनऊ में भी लोगो ने बांह पर काली पट्टी बांधकर अपना ईद मनाने का फैसला किया है.

फिलहाल जुनैद की हत्या के करीब पांच दिन बाद तक पुलिस फ़िलहाल किसी भी आरोपी को गिरफ्तार करने में नाकाम रही है. हालाँकि पुलिस ने आरोपियों का पता बताने वालो को एक लाख रूपए का इनाम देने का फैसला किया है. जीआरपी अंबाला कैंट के एसपी कमलदीप गोयल ने बताया की हमने कुछ लोगो की पहचना की है और वो हथियार भी बरामद कर लिए है जो हत्या में उपयोग किये गए थे. फ़िलहाल छापेमारी चल रही है और उम्मीद है की सभी आरोपी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE