देश भर में गौरक्षा के नाम पर ली जा रही मुस्लिमों की हत्या के चलते फोरम फॉर मुस्लिम स्टडीज एण्ड एनालिसिस एफएमएसए ने केंद्र की मोदी सरकार से गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की मांग की है.

एफएमएसए के निदेशक जासिम मोहम्मद ने बताया, प्रस्ताव में कहा गया है कि केन्द्र सरकार यदि पूरे देश में गोहत्या पर पाबन्दी लगाने और गाय को राष्ट्रीय पशु घोषित करने का प्रस्ताव रखेगी तो, उनका संगठन इसका पूर्ण समर्थन करेगा.

और पढ़े -   मोदी ने जूता पहनकर झंडा फहराया तो शांति, मुस्लिम प्रिंसिपल पर किया गया हमला

मोहम्मद ने कहा कि गोरक्षा के नाम पर देश के विभिन्न हिस्सों में भीड़ द्वारा लोगों की पीट-पीटकर हत्या की लगातार हो रही वारदात से जीने के अधिकार और आबादी के एक बड़े हिस्से के रोजी-रोटी कमाने के अधिकार को गम्भीर खतरा पैदा हो गया है.

उन्होंने कहा कि देश का हर मुसलमान गाय की रक्षा करने के लिये तत्पर है, क्योंकि उससे बहुसंख्यक समाज की भावनाएं जुड़ी हैं. मगर भैंस और उस वंश के मवेशियों के मांस का कारोबार करने वाले मुसलमानों से मारपीट किये जाने से देश की आंतरिक सुरक्षा को खतरा पैदा हो रहा है. प्रधानमंत्री को इसे रोकने के लिये सख्त कदम उठाने चाहिये.

और पढ़े -   जस्टिस खेहरः अग्रेज़ों के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाने वाले अब्दुल्लाह और शेर अली अफरीदी का नाम सुना

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE