muslimprotest

कोहराम न्यूज़ डेस्क 

जब से उड़ी सैन्य कैंप पर आतंकी हमला हुआ है तब से देश का माहौल देशभक्तिमय हो गया है. सोशल मीडिया पर जिस तरह पाकिस्तान को लेकर सन्देश प्रसारित किये जा रहे है उसे देखकर लगता है की इस समय देशवासियों में आतंकी हमले को लेकर बहुत अधिक रोष है.

अगर लड़ाई सोशल मीडिया पर होती तो अब तक हमारी देशभक्ति के आगे पाकिस्तान ने खुद हथियार डाल दिए होते जिस तरह दो देशों के बीच होने वाला तनाव सोशल मीडिया से नही जांचा जा सकता उसी तरह बिस्तर में बैठकर शहीद सैनिको के लिए श्रधांजली वाले फोटो लाइक या शेयर करने से देशभक्ति किसी पैमाने से साबित नही की जा सकती.

हम उन सैनिकों की दशा का अंदाज़ा भी नही लगा सकते जो तपती गर्मी से लेकर खून जमा देने वाली ठण्ड में भी देश के दरवाज़े पर अपनी पहरेदारी से हमे मीठी नींद सुलाते है. हम दुश्मनों की गंदी नज़र से सुरक्षित रहे इसीलिए दिनरात ये हम तक दुश्मनों को पहुचने नही देते. मसलन के तौर पर अगर उड़ी में आतंकवादियों और हमारे बीच सेना की परत नही होती तो आतंक का निशाना हम ही बनते बहुत सीधी सी बात है हमें बचाने के लिए शहादत का कफ़न ओड़कर वो लोग मौत की आगोश में चले गये.

इस मामले को लेकर देशभर के मुस्लिमो का गुस्सा फूट पड़ा है शुक्रवार 23 सितम्बर को जुम्मे की नमाज़ के बाद जहाँ देशभर में पाकिस्तान के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए वहीँ कुछ स्थानों पर पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ का पुतला भी फूंका गया. आइये देखते है कहाँ कहाँ हुए यह प्रदर्शन

लालकुआं (उत्तराखंड )

24_09_2016-23lalp1-c-2

आतंकी हमले के खिलाफ क्षेत्र के मुस्लिम समुदाय ने भी हुंकार भरी। सैनिकों पर आतंकी हमले का विरोध करते हुए नगर में जुलूस निकाला गया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान सरकार का पुतला दहन किया।

जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय के लोगों ने नगर में जुलूस निकालते हुए हनीफ अहमद ने कहा कि पाकिस्तान आतंकवादियों को भारत में भेजकर शांति व्यवस्था भंग करना चाहता है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने केंद्र सरकार से पाकिस्तान को करारा सबक सिखाने की बात कही।

सागर (मध्य प्रदेश )

bpl-r2519554-large

जम्मू कश्मीर में हुए आतंकी हमले में सैनिकों पर हमले को पाकिस्तान की कायराना हरकत बताते हुए मुस्लिम समाज ने राष्ट्रीय मुस्लिम महासभा के तत्वावधान में पाकिस्तान प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। नमकमंडी में दो पुतले भी फूंके। पाक के इस हमले में 18 सैनिक शहीद हो गए थे।

खटीमा (उत्तराखंड)

23_09_2016-23ktmp3-c-2

जम्मू-कश्मीर के उड़ी सेक्टर भारतीय सेना पर हुए आतंकी हमले से मुस्लिम समुदाय भी भड़क उठा है। उन्होंने इस घटना पर तीव्र आक्रोश जताते हुए पाकिस्तान का पुतला फूंका। साथ ही केंद्र सरकार से जल्द ही पाक को कड़ा जबाव दिए जाने की मांग की।

शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग मुख्य चौक पर एकत्र हुए। इस मौके पर वक्ताओं ने कहा कि पाकिस्तानी सेना द्वारा अक्सर जम्मू-कश्मीर सीमा पर गोलीबारी की जा रही है। पाकिस्तान आतंकियों को संरक्षण देकर देश में हमले कराने में लगा है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अब पाकिस्तान को माकूल जवाब देने का समय आ गया है। केंद्र सरकार उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे। देश पर हमला करने वालों का एकजुटता के साथ विरोध किया जाएगा।

भारतीय सेना पर आतंकी हमले से गुस्साए लोगों ने इसके बाद पाकिस्तान का पुतला जलाकर अपना विरोध जताया। साथ ही प्रधानमंत्री को ज्ञापन भेजकर पाक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग की.

महोबा (उत्तर प्रदेश)

tribute_1474654087-1
फोटो- अमर उजाला
जम्मू कश्मीर के उड़ी में आतंकी हमले में शहीद हुए सैनिकों को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने श्रृ़द्धांजलि दी और जुलूस निकालकर पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद निजाम सौदागर, कल्लू कुरैशी, मुहम्मद रहीम, सफू  शाह सहित तमाम मुस्लिम समुदाय के लोगाें ने शहीदों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन धारण कर जूलूस निकाला। जुलूस दौरान पाकिस्तान मुर्दाबाद, नवाज शरीफ होश में आओ आदि नारे लगाते हुए चल रहे थे। जुलूस कस्बे के मुख्य मार्गों से होता हुआ बस स्टैंड में समाप्त हुआ।

बड़वानी (मध्यप्रदेश )

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में आर्मी बेस पर हुए घातक आतंकवादी हमले के विरोध में आज मुस्लिम सम्प्रदाय ने बड़वानी जिले के सेंधवा, अंजड और जुलवानिया में प्रदर्शन किया। मुस्लिम सम्प्रदाय ने सेंधवा, अंजड और जुलवानिया में उरी के शहीदों को कल श्रृद्धांजलि दी और पाकिस्तान के खिलाफ नारे बाजी कर वहां के झंडे व प्रधानमंत्री के पुतले फूंके।

अंजड़ में रैली निकाल कर राष्ट्रपति के नाम तहसीलदार को ज्ञापन भी सौंपा गया। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान जनित आतंकवाद के खिलाफ पूरा देश एकजुट है और इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जायेंगी।

दुर्ग भिलाई (छत्तीसगढ़ )

bpl-r2522665-large

छत्तीसगढ़ मुस्लिम चैरिट्रेबल ट्रस्ट की ओर से हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इसके बाद हस्ताक्षर अभियान में हिस्सा लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर आतंकवाद के खिलाफ चलने का समर्थन पत्र चिटठी के रूप में भेजा। समाज का यह भी मानना है कि पाकिस्तान इस्लाम के नाम पर कलंक का धब्बा और पूरी दुनिया में दहशतगर्दी का दूसरा नाम बन चुका है। इस्लाम शांति और भाईचारे का मजहब है लेकिन पाकिस्तान समर्थित आतंकवादियों ने धर्म और ज़िहाद के नाम पर इस्लाम को बम और बारूद का दर्शन बना दिया है। हस्ताक्षर युक्त पत्र को तहसीलदार धनराज मरकाम को सौंपा गया।

कश्मीर में तनाव और सरहद पर आर-पार की तैयारियों के बीच भिलाई के मुसलमानों ने मस्जिद के आंगन में आतंकवादियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। अल्लाह से आतंकी संगठनों और उनके ठिकानों को तबाह करने की दुआ की ताकि मुल्क में अमन-ओ-अमान बना रहा। सेक्टर-6 स्थित जामा मस्जिद में जुमा की नमाज के दौरान दुआ की गई।

देहरादून (उत्तराखंड)

23_09_2016-23kotp5

उड़ी के विरोध में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने झंडा चौक में पाकिस्तान का पुतला फूंककर विरोध-प्रदर्शन किया। साथ ही मोदी सरकार से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उनका कहना है कि आतंकवाद को जड़ से ख़त्म कर दो।

विभिन्न राजनीतिक और सामाजिक संगठनों ने इसके लिए सीधे तौर पर पाकिस्तान को दोषी करार दिया है। कुछ जगह लोगों ने आतंकवाद का पुतला और पाकिस्तान के झंडे फूंककर गुस्सा जाहिर किया। कश्मीर में हुए आतंकी हमले के शहीदों को देहरादून के गांधी पार्क से घंटाघर तक कैंडल मार्च निकाल कर श्रद्घांजलि देते आप स्टूडेंट विंग के कार्यकर्ता।

बता दें कि उरी आतंकी हमले में 20 जवान शहीद हो गए हैं। वहीं कई बुरी तरह से घायल हुए। मोदी सरकार इस मामले में पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई करने में कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहता है। देश की जनता पीएम मोदी से कार्रवाई की मांग कर रही है। जिसे देखते हुए अब मोदी सरकार भी बैठक करके रणनीति बना रही है।

झाबुआ (मध्य प्रदेश)

jhabua-1474648044

उरी में हुए आतंकी हमले का विरोध करते हुए मुस्लिम समाज ने आज यहां जुमे की नमाज के बाद पाकिस्तान के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और आतंकवादियों का पुतला दहन किया।

मुस्लिम पंचायत एहले सुन्नत वल जमाअत जामा मस्जिद के तत्वावधान में रैली निकालकर मुस्लिम युवाओं सहित समुदाय के लोगों ने पाकिस्तान के खिलाफ नारे लगाए। शहर के हुडा क्षेत्र स्थित जामा मस्जिद में जुमे को दोपहर की नमाज के बाद मुस्लिम समाज के सैकड़ों लोग हुसैनी चौक पर एकत्रित हुए।

मथुरा (उत्तर प्रदेश)

screenshot_18

जम्मू कश्मीर के उड़ी सैन्य मुख्यालय पर हुए आतंकी हमले में 18 भारतीय जवानों के शहीद होने पर नगर के मुस्लिम समाज ने भी पाकिस्तान के खिलाफ रोष व्यक्त किया है।

शुक्रवार को दोपहर में जुमे की नमाज के बाद मुस्लिम समुदाय के लोग मथुरा दरवाजा स्थित शाही जामा मस्जिद के बाहर एकत्रित हुए। यहां शाही जामा मस्जिद के इमाम मुहम्मद उमर कादरी और महामंडलेश्वर नवल गिरि की पहल पर बुजुर्ग, युवा और बच्चों ने भारत माता की जय, हिंदुस्तान जिंदाबाद और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाए। सभी ने एक स्वर से आतंक को समाप्त करने के लिए केंद्र सरकार से कडे़ कदम उठाने की मांग की।

 


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें