नई दिल्ली  केरल तट के पास 2012 में दो भारतीय मछुआरों को मार दिये जाने के आरोपी दो इतालवी मरीनों में से एक मासीमिलानो लातोरे भारत नहीं लौटेगा। इतालवी सीनेट की रक्षा समिति के प्रमुख ने यह बात कही है। सुप्रीम कोर्ट ने लातोरे को मस्तिष्काघात होने पर उसे चार माह के लिए इटली जाने की सितंबर 2014 में अनुमति दी थी। बाद में वहां उसके प्रवास की अवधि और बढ़ा दी गई।
'मर्डर आरोपी इटालियन मरीन नहीं आएँगे भारत वापस'

इटली की संवाद समिति आंसा ने सांसद निकोला लातोरे के हवाले से कहा, ‘मासीमिलानो लातोरे भारत नहीं जाएगा तथा सल्वातोरे गिरोन को इटली वापस लाने के लिए अनुरोध किये जाने की संभावना पर काम किया जा रहा है।’ सल्वातोरे अभी तक यहां है और इटली उसकी भी वापसी चाह रहा है।

सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 13 जुलाई को लातोरे को चिकित्सा आधार पर छह माह तक इटली में और रहने की अनुमति दी थी क्योंकि सरकार ने इस अनुरोध का विरोध नहीं किया था। छह माह की अवधि बुधवार को समाप्त हो रही है। इस मामले की बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। दोनों मरीन एनरिका लेक्सी जहाज पर सवार थे। उन पर 15 फरवरी 2012 को केरल तट के पास जलदस्यु समझने की गलती में दो भारतीय मछुआरों को मारने का आरोप है।

हाईकोर्ट ने दोनों मरीन के खिलाफ मुकदमे में अदालती कार्रवाई को पिछले साल अगस्त में स्थगित कर दिया था। कोर्ट ने समुद्री कानून के बारे में अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के आदेश का पालन करते हुए ऐसा किया। इटली ने अंतरराष्ट्रीय पंचाट के लिए न्यायाधिकरण में गुहार लगायी थी। साभार: नवभारत टाइम्स


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE