abdul wahid

3 जुलाई 2011 को मुंबई के ज़वेरी बाजार, ऑपेरा हाउस और दादर इलाके में हुए सिलसिलेवार बम विस्फोट मामलें में अब्दुल वाहिद सदी को मुंबई की विशेष मकोका अदालत ने अपर्याप्त सबूत के आधार पर बरी करने का आदेश दिया हैं.

अब्दुल वाहिद सदी को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने इंडियन मुजाहिदीन के लिए आतंकियों की भर्ती करने और मुंबई में हुवे सिलसिलेवार बम विस्फोट मामलें में गिरफ्तार किया था.

विशेष मकोका अदालत के न्यायाधीश वी वी पाटिल ने आरोपियों को कानूनी सहायता प्रदान करने वाली संस्था जमीयत उलेमा महाराष्ट्र के वकील एडवोकेट शरीफ शेख के तर्क से सहमत थे कि आरोपी का इस मामले से कोई लेना देना नहीं है और न ही वह इस मामले के अन्य आरोपियों को जानता है और न ही वह इंडियन मुजाहिदीन का सदस्य है.

आपराधिक कानून की धारा 169 के तहत दायर की गई याचिका पर अभियोजन पक्ष उज्जवल निकम ने अपने रुख जताते हुए अदालत को बताया कि खोजी दस्तों की आरोपी से जांच पूरी हो चुकी है और उसी उन्होंने आरोपी के खिलाफ कोई सबूत नहीं पाया है इसलिए उन्हें आरोपी की द्वारा दर्ज किये याचिका पर कोई आपत्ति नहीं है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें