मुंबई मुंबई पुलिस अपने एक सर्कुलर को लेकर विवादों में घिर गई है। आरोप हैं कि इस सर्कुलर में कहा गया है कि एक मुस्लिम संस्‍था लड़कियों को जिहाद के लिए ट्रेनिंग दे रही है। बॉम्‍बे हाई कोर्ट ने सोमवार को इस सर्कुलर के खिलाफ जमीयत-ए-इस्‍लामी हिंद की तरफ से दाखिल एक याचिका को सुनवाई के लिए स्‍वीकार कर लिया।

बता दें कि इस सर्कुलर में कथित तौर पर जमात से जुड़े संगठन गर्ल्‍ज इस्लामिक ऑर्गेनाइजेशन (जीआईओ) के बारे में कहा गया है कि वह मुस्लिम युवतियों के विचारों को प्रभावित करता है और उन्हें जिहाद के लिए प्रशिक्षण देता है।

 सांकेतिक तस्वीर

हाई कोर्ट के जस्टिस एससी धर्माधिकारी की अध्यक्षता वाली बेंच ने महाराष्ट्र सरकार से पूछा कि पुलिस सर्कुलर मीडिया में कैसे लीक हुआ जिसने इसकी सामग्री छापी है। उधर, पुलिस विभाग ने एक हलफनामा दायर कर इस बात से इन्‍कार किया है कि उसने मीडिया को सर्कुलर की सामग्री लीक की थी। विभाग ने कहा कि यह पता करना मुश्किल है कि मीडियाकर्मियों तक यह मामला कैसे पहुंचा।

मुस्लिम संगठन जमात-ए-इस्लामी हिंद ने कहा कि उसने मुस्लिम युवतियों के फायदे के लिए जीआईओ को बढ़ावा दिया है। जमात ने कहा कि मार्च 2013 के तीसरे हफ्ते में शहर पुलिस की विशेष शाखा ने एक सर्कुलर जारी किया था जिसमें कहा गया कि जीआईओ का उददेश्य न सिर्फ मुस्लिम युवतियों को उनके धर्म के बारे में जागरूक करना है बल्कि उनके विचार प्रभावित करना और उन्हें जिहाद के लिए प्रशिक्षित करना भी है। जमात ने अपनी याचिका में आरोप लगाया कि सर्कुलर मानहानिपूर्ण है और इसका इरादा जीआईओ की प्रतिष्ठा खराब करना है। (NBT)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें