1460478359_kashmir

श्रीनगर – जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में कुछ दिनों पहले जिस स्‍कूली छात्रा से कथित तौर पर छेड़छाड़ के बाद राज्य में ज़बरदस्त अशांति का माहौल है, अब उसके परिवार ने नए आरोप लगाए हैं। परिवारवालों का कहना है कि लड़की पर दबाव बनाकर उसका वह विडियो बयान लिया गया था जिसमें उसने छेड़छाड़ के लिए सुरक्षाबलों को जिम्‍मेदार नहीं ठहराया था। इसके साथ ही परिवार ने कोर्ट पहुंचकर मामले की स्‍वतंत्र जांच कराने की मांग की है।

बता दें कि इस हफ्ते की शुरुआत में इस छात्रा से एक जवान द्वारा छेड़छाड़ किए जाने का मामला सामने आया था। इसी के बाद से पूरे कश्मीर में ज़बरदस्त विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। इनमें अभी तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है और कई घायल हुए हैं। बाद में इस लड़की का एक विडियो सामने आया था जिसमें वह सेना के जवान द्वारा छेड़छाड़ की बात से इन्‍कार कर रही थी।

इस लड़की की मां ने कहा, ‘मेरी बेटी सिर्फ 16 साल की है और जब उसका बयान दर्ज किया गया था तब वह पुलिस स्टेशन में अकेली थी। पुलिस ने वह बयान देने के लिए उस पर दबाव बनाया था।’

एक सिविल सोसायटी समूह ने छात्रा के परिवार के लिए शनिवार को ही एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस का आयोजन किया था, लेकिन पुलिस की तरफ से इसकी इजाजत नहीं दी गई। रिपोर्टरों से बात करते हुए लड़की की मां ने आरोप लगाया कि पुलिस ने परिवार को बताए बिना उनकी बेटी को हिरासत में लिया था और उसका चेहरा ढके बिना उसका विडियो स्‍टेटमेंट रिकॉर्ड किया और उसकी पहचान जाहिर कर दी।

लड़की की मां ने कहा, ‘मंगलवार को लड़की जब स्‍कूल से घर लौट रही थी तो वह बाथरूम में गई और वहां सेना के एक जवान ने उसका पीछा किया। जब उसने बाथरूम में इस जवान को देखा तो वह चिल्‍लाई जिससे नजदीकी दुकानदारों का ध्‍यान उस तरफ गया। पुलिस भी वहां पर आई लेकिन तब तक सेना का जवाब भाग चुका था। उसके बाद हमारी जानकारी के बिना उसे थाने ले जाया गया था। हमने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है और मामले में स्‍वतंत्र जांच की मांग की है। हम नहीं चाहते कि पुलिस या आर्मी इस मामले की जांच करें।’


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें