modi1

मोदी सरकार ने मुस्लिमों को अपने साथ जोड़ने के लिए बड़ा फैसला करते हुए देशभर में मुस्लिम पंचायत आयोजित करने का फैसला किया हैं.

प्रोग्रेस पंचायत का नाम देते हुए इसकी शुरुआत कल हरियाणा के मेवात से की जाएगी. मुस्लिम समाज की प्रगति और उन्हें विकास की मुख्यधारा में जोड़ने के लिए यह पंचायतें आयोजित की जाएंगी. इसके जरिए उनकी समस्याओं का हल ढूंढ़ने की कोशिश की जाएगी.

और पढ़े -   दलित नेता मानकर ने भगवद गीता को बताया घटिया, कहा - कचरे के डब्बे में फेंक देना चाहिए

केंद्र सरकार का दावा हैं कि दपूर्ववर्ती सरकारों ने मुस्लिम समाज के विकास के लिए ऐसे कदम नहीं उठाए, जिससे उनकी समस्याएं हल हों. इस पंचायत में केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी समेत कई केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे.

कांग्रेस ने इसे एक चुनावी चाल बताते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर ये पंचायतें आयोजित हो रही हैं. कांग्रेस नेता मीम अफजल ने कहा, “यूपी में विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखकर भाजपा इस तरह के आयोजन कर रही है. कांग्रेस ने हमेशा से मुस्लिम समुदाय की भलाई के बारे में सोचा है और काम किया है.”

और पढ़े -   राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग का हुआ पुनर्गठन, गयरुल हसन को नियुक्त किया गया अध्यक्ष

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE