30 मार्च से तीन देशों की यात्रा पर जा रहे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 अप्रैल को सऊदी अरब की राजधानी रियाद भी जायेंगे। ईरान के साथ सऊदी अरब के संबंधों के तनाव के बीच मोदी की रियाद यात्रा काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। सऊदी अरब भारत के लिए सबसे बडा तेल निर्यातक है। मोदी की इस यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कई महत्वपूर्ण समझौते भी होंगे।

और पढ़े -   हरियाणा के बाद मध्य प्रदेश में बजरंग दल की गुंडागर्दी, साथी को छुड़ाने के लिए थाने पर किया हंगामा

मोदी 30 मार्च को बेल्जियम में होने वाले भारत-यूरोपीय यूनियन समिट में शामिल होंगे। उसके बाद वाशिंगटन में न्यूक्लियर स्टेट समिट में हिस्सा लेंगे। जहां वो संभवतः पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ से मिल सकते हैं। पठानकोट एयरबेस पर हमले के बाद भारत-पाक सम्बंधों में एक बार फिर तल्खी आ गयी थी।

न्यूक्लियर समिट से लौटते वक्त मोदी 2 अप्रैल को सऊदी अरब की राजधानी रियाद में रुकेंगे। (News24)

और पढ़े -   आधी अधूरी तैयारियों के साथ लागु हुआ जीएसटी, पोर्टल पर लॉग इन करने से किसी और का अकाउंट खुलने की मिल रही शिकायत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE