पूर्व राष्ट्रपति ए पी जे अब्दुल कलाम की आज दूसरी पुण्यतिथि है. इस अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  पूर्व राष्ट्रपति के गृह नगर रामेश्वरम में बने स्मारक को देशवासियों को समर्पित किया. ये स्मारक उस जगह पर बनाया गया, जहाँ कलाम को दफनाया गया था.

इस स्मारक का निर्माण रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने किया है. स्मारक में कलाम की 900 पेंटिंग्स और 200 दुर्लभ तस्वीरें हैं. स्मारक में कांसे की बनी कलाम की एक प्रतिमा भी लगाई गयी है. स्मारक के प्रवेश द्वार का डिजाइन नयी दिल्ली के इंडिया गेट की तर्ज पर तैयार किया गया है. स्मारक के पीछे के हिस्से को राष्ट्रपति भवन के मॉडल पर बनाया गया है.

और पढ़े -   हिन्दू महासभा ने मोदी सरकार को लिया आड़े हाथो कहा, हम सरकार बनाना जानते है तो गिराना भी

इसी के साथ प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कलाम की वीणा बजाते हुये लकड़ी से बनी एक प्रतिमा का भी अनावरण किया. इसके अलावा प्रधानमंत्री ने ‘कलाम संदेश वाहिनी’ प्रदर्शनी बस को भी हरी झंडी भी दिखाई. जो देश के विभिन्न राज्यों की यात्रा करेगी और 15 अक्तूबर को पूर्व राष्ट्रपति की जयंती पर राष्ट्रपति भवन पहुंचेगी.

इस दौरान कलाम के भतीजे सलीम ने कहा कि यह स्मारक भारत की विविधता और विभिन्न संस्कृतियों को प्रतिबिंबित करेगा. साथ ही कलाम को श्रद्धांजलि अर्पित करेगा. रॉकेट्स और मिसाइलों की प्रतिकृतियां को प्रदर्शित करेगा.

और पढ़े -   गुजरात दंगो पर झूठ बोलने को लेकर राजदीप सरदेसाई ने अर्नब गोस्वामी को बताया फेंकू

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE