suicide-1478064768

वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर एक रिटायर्ड सैनिक ने जहर खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. पूर्व सैनिक का नाम रामकिशन ग्रेवाल बताया जा रहा हैं. वह पिछले कई दिनों से जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन में सुधार की मांग को लेकर अपने कुछ साथियों के साथ धरना दिए हुए थे. लेकिन सरकार के नकारात्मक रुख के कारण उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ा.

परिजनों के मुताबिक, मंगलवार दोपहर रामकिशन अपने साथियों के साथ रक्षामंत्री से मिलने जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही रामकिशन ने ज़हर खा लिया. परिजनों ने बताया, जो ज्ञापन उनके पिता अपनी मांगों को लेकर रक्षामंत्री को देने जा रहे थे उसी पर उन्होंने सुसाइड नोट लिखकर जहर खा लिया. रामकिशन ने मरने से पहले एक नोट भी लिखा, जिसमे उन्होंने लिखा :- मैं मेरे देश के लिए, मेरी मातृभूमि के लिए और मेरे देश के वीर जवानों के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने जा रहा हूं.

इसके अलावा सरकार ने ग्रेवाल के परिजनों को विपक्ष के नेताओं से मिलने पर भी रोक लगा दी. सैनिक के परिवार से मिलने पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और विधायक कमांडर सुरेन्द्र को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेकर मिलने से रोक दिया.

वहीँ ग्रेवाल के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि मंदिर मार्ग थाने में लाए जाने से पहले पुलिस ने अस्पताल में उनके साथ बदसलूकी भी की.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें