suicide-1478064768

वन रैंक वन पेंशन की मांग को लेकर एक रिटायर्ड सैनिक ने जहर खाकर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली. पूर्व सैनिक का नाम रामकिशन ग्रेवाल बताया जा रहा हैं. वह पिछले कई दिनों से जंतर-मंतर पर वन रैंक वन पेंशन में सुधार की मांग को लेकर अपने कुछ साथियों के साथ धरना दिए हुए थे. लेकिन सरकार के नकारात्मक रुख के कारण उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ा.

और पढ़े -   गाली से न गोली से, कश्मीर समस्या सुलझेगी कश्मीरियों को गले लगाने से: मोदी

परिजनों के मुताबिक, मंगलवार दोपहर रामकिशन अपने साथियों के साथ रक्षामंत्री से मिलने जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही रामकिशन ने ज़हर खा लिया. परिजनों ने बताया, जो ज्ञापन उनके पिता अपनी मांगों को लेकर रक्षामंत्री को देने जा रहे थे उसी पर उन्होंने सुसाइड नोट लिखकर जहर खा लिया. रामकिशन ने मरने से पहले एक नोट भी लिखा, जिसमे उन्होंने लिखा :- मैं मेरे देश के लिए, मेरी मातृभूमि के लिए और मेरे देश के वीर जवानों के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने जा रहा हूं.

और पढ़े -   जिस देश में सुरक्षित महसूस हो वहां चले जाए हामिद अंसारी: आरएसएस नेता

इसके अलावा सरकार ने ग्रेवाल के परिजनों को विपक्ष के नेताओं से मिलने पर भी रोक लगा दी. सैनिक के परिवार से मिलने पहुंचे कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और विधायक कमांडर सुरेन्द्र को दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेकर मिलने से रोक दिया.

वहीँ ग्रेवाल के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाया कि मंदिर मार्ग थाने में लाए जाने से पहले पुलिस ने अस्पताल में उनके साथ बदसलूकी भी की.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस पर चीनी सेना की लद्दाख में घुसपैठ, भारतीय सैनिकों पर भी किया पथराव

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE