cc

तीन दिवसीय भारत दौरे पर पहुंचे  मिस्र के राष्ट्रपति अब्देल फतह अल सीसी से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हैदराबाद हाउस में मुलाकात की. दोनों नेताओं ने वार्ता के बाद संयुक्त बयान में कहा कि आतंकवाद और कट्टरपंथ की चुनौतियों से निपटने के लिए सुरक्षा सहयोग बढ़ाने का निर्णय लिया गया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दोनों देशों ने रक्षा व्यापार, प्रशिक्षण एवं क्षमता निर्माण बढ़ाने का निर्णय लेने के अलावा कई क्षेत्रों में संबंधों को आगे ले जाने के लिए पर सहमति बनी.

और पढ़े -   आगरा में तेज आवाज के बीच फटी धरती, लोगो में मची चीख पुकार

मोदी ने सीसी से मुलाकात के बाद कहा, ‘हमारा मानना है कि बढ़ता कट्टरपंथ, हिंसा और आतंकवाद इस क्षेत्र में एक वास्तविक खतरा ह.।’ दोनों देशों ने व्यापारिक एवं वाणिज्यिक संबंधों को मजबूत बनाने का भी निर्णय लिया और माना कि दोनों देशों में ऐसे आर्थिक अवसरों को भुनाने के कई मौके हैं जिनका अभी दोहन नहीं किया गया है.

और पढ़े -   जनधन योजना से लेकर मेक इन इंडिया जैसी मनमोहन सरकार की 28 योजनाओ को मोदी ने नाम बदलकर किया शुरू ?

वार्ता के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा गया, भारत एवं मिस्र ने समग्र अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद सम्मेलन (सीसीआईटी) के संबंध में संयुक्त राष्ट्र में मिलकर काम करने का संकल्प दोहराया है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE