phpthumb_generated_thumbnail

नई दिल्ली | नोट बंदी के बाद विपक्ष की घेरेबंदी के बीच प्रधानमंत्री मोदी ने अपने विरोधियो पर निशाना साधा है. प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष को कालेधन का पैरोकार बताते हुए कहा की जो कह रहे है हमने इसके लिए तैयारी नही की असल में उन्हें तैयारी का मौका नही मिला. नोट बंदी के बाद मोदी ने विपक्ष पर पहली बार सीधा निशाना साधा है.

शुक्रवार को पार्ल्यामेंट ऐनेक्स बिल्डिंग में ‘भारत का संविधान’ किताब का विमोचन करते हुए मोदी ने कहा की नोट बंदी के फैसले से कुछ सकरात्मक चीजे भी बाहर आई है. मैंने कई नगरपालिकाओ से आंकड़े मंगवाए. जहाँ पहले तीन हजार करोड़ टैक्स आता था वो नोट बंदी के बाद बढ़कर 13 हजार करोड़ पहुँच गया. यह भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई है.

और पढ़े -   स्वतंत्रता संग्राम में मुस्लिमो की थी अहम् भूमिका, हिन्दुत्वादी संगठनों ने कुछ नही किया-प्रशांत भूषण

मोदी ने आगे कहा की इस बड़ी लड़ाई में हमारी कम आलोचना हो रही है. जो आलोचना कर रहे है उनका दर्द यह है की उनको तैयारी के लिए टाइम नही मिला. अगर मैं 72 घंटे का भी समय दे देता तो वो कहते की क्या फैसला है. मोदी जैसा कोई नही. विपक्ष को इस कदम में राजनीती से ऊपर उठकर देश की भी सोचनी चाहिए. देश में करीब 100 करोड़ मोबाइल धारक है. हमें इन लोगो को डिजिटल करेंसी के इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करना चाहिए.

और पढ़े -   राष्ट्रपति प्रणव मुख़र्जी का आखिरी संबोधन , लोकतंत्र में हिंसा से दूर रहने की दी हिदायत

मोदी ने डिजिटल करेंसी को बढ़ावा देने की मांग करते हुए कहा की जैसे व्हाट्सएप्प से मेसेज भेजना आसान हो गया ऐसे ही मोबाइल से शौपिंग भी आसान हो जाएगी.विपक्ष लगातार मोदी के संसद में मौजूद रहने की मांग कर रहा है. विपक्ष की मांग है की मोदी संसद में विपक्ष के हर नेता को सुने और इसके बाद जवाब दे. विपक्ष की मांग के बावजूद आज मोदी संसद में मौजूद नही रहेंगे.

और पढ़े -   पिछले तीन वर्षों में देश में धर्म और जाति के नाम पर 41 फीसदी हिंसा बढ़ी

 


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE