रांची | पिछले कुछ महीनो में गाय और बीफ को लेकर पुरे देश में हंगामा मचा हुआ है. कभी गौतस्करी तो कभी बीफ का आरोप लगाकर कथित गौरक्षक एक खास समुदाय को निशाना बना रही है. इन हमलो में कुछ लोगो को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है. अभी पिछले हफ्ते बल्लभगढ़ में एक 15 वर्षीय युवक को बीफ खाने वाला बताकर मौत के घाट उतार दिया गया. ऐसे मामले रोज बढ़ रहे है लेकिन सरकार मूक दर्शक बने बैठी हुई है.

मंगलवार को भी एक ऐसी ही घटना हुई जिसमे युवक पर गौ हत्या का आरोप लगाकर उसको बेरहमी से पीटा गया. जब पुलिस युवक को बचाने बीच में आई तो उस पर हमला किया गया. मिली जानकारी के अनुसार झारखण्ड के गिरीडीह जिले में एक मुस्लिम शख्स को इसलिए बेरहमी से पीटा गया क्योकि उसके घर के बाहर एक गाय का मृत शरीर पड़ा हुआ था. भीड़ इतनी आक्रमक थी की उन्होंने मुस्लिम शख्स के घर के एक हिस्से को भी आग लगा दी.

पुलिस के अनुसार दूर देवरी के बेरिया हतितांद में उस्मान अंसारी नामक शख्स पर भीड़ ने हमला किया. झारखण्ड पुलिस के प्रवक्ता आरके मुल्लिक ने बताया की सूचना मिलने पर जब पुलिस मौके पर पहुंची तो भीड़ उस्मान के घर के एक हिस्से को आग लगा चुकी थी और उसके साथ मारपीट की जा रही थी. पुलिस ने वहां पहुंचकर उस्मान को भीड़ से बचाने का प्रयास किया. लेकिन भीड़ ने पुलिस पर भी हमला करते हुए उनका रास्ता रोकने का प्रयास किया.

समझाने पर भी जब भीड़ नही मानी तो पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी जिसमे कृष्णा पंडित नामक व्यक्ति घायल हो गया. हालाँकि इस पुरे मामले में पुलिस के 50 कर्मी भी भीड़ के पथराव करने से घायल हो गए. फिलहाल पुलिस ने उस्मान और कृष्णा पंडित को अस्पताल में भर्ती करा दिया है जहाँ उनकी हालत स्थिर बनी हुई है. झारखण्ड में भीड़ के उग्र होने का यह दूसरा मामला है. इससे पहले बच्चा चोरी की अफवाह में भीड़ ने 5 लोगो को पीट पीट कर मार डाला था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE