सौजन्य से: ANI

नई दिल्ली | हजरत निजामुद्दीन दरगाह के दो मौलवी जो पाकिस्तान में लापता हो गए थे, वतन वापिस लौट आये है. उनकी सकुशल वापसी के लिए काफी प्रयास करने वाली विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दोनों मौलवियों के लौटने की जानकारी देते हुए ट्वीट किया की दोनों मौलवी सकुशल वापिस लौट आये है. खबर है की दोनों मौलवी सुषमा स्वराज से मुलाकात भी कर सकते है.

रविवार को ही सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर बताया थे की पाकिस्तान में लापता हुए दोनों मौलवियों से उनकी बात हुई है और वो दोनों सोमवार को भारत लौट रहे है. इस बारे में पाकिस्तान की तरफ से भी सुषमा स्वराज को लगातार जानकारी दी जाती रही. इससे पहले सुषमा स्वराज और पाकिस्तान में भारत के राजदूत ने पाकिस्तानी सरकार से बात कर दोनों मौलवियों का जल्द पता लगाने का आग्रह किया था.

जानकारी मिली थी की अधूरे कागजात रखने की शक में पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ISI ने दोनों मौलवियों को हिरासत में लिया था. जैसे ही इस खबर की पुष्टि वहां के मीडिया ने की तभी यह स्पष्ट हो गया था की जल्द ही दोनों मौलवियों को वतन वापसी हो जाएगी. मालूम हो हजरत निजामुद्दीन दरगाह के मौलवी आसिफ निजामी और उनके भतीजे नाजिम निजामी , पाकिस्तान एक धार्मिक यात्रा पर गए थे.

इस दौरान उन्होंने कराची में अपनी बहन से भी मुलाकात की. गुरुवार को खबर आई की आसिफ और नाजिम पाकिस्तान में लापता हो गए है. वतन लौटकर आसिफ निजामी ने बताय की हमारे वहां पहुँचते ही पाकिस्तान के अखबार उम्मत ने हमारे बारे में खबर छापी की हम भारत के जासूस है जिसके बाद ISI ने हमें हिरासत में लिया. मालूम हो की दोनों मौलवियों के लापता होने के बाद दोनों देशो के बीच में कूटनीति सम्बन्ध बिगड़ने का अंदेशा हो गया था.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें
SHARE