22 जून को बल्लभगढ़ में ईद की खरीददारी कर घर लौट रहे जुनैद की लोकल ट्रेन में पीट-पीट कर हत्या कर देने के मामलें में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग (एनसीएम) द्वारा पुलिस व जिला प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई पर संतुष्टि जताई गई.

दरअसल, आयोग ने फरीदाबाद के उपायुक्त से इस घटना पर एक रिपोर्ट मांगी थी, जिस पर एनसीएम की बैठक में मंगलवार को चर्चा की गई.

और पढ़े -   नोटबंदी और जीएसटी से जीडीपी पर प्रतिकूल असर पड़ा है: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह

एनसीएम के अध्यक्ष गयूरुल हसन रिजवी ने कहा कि आयोग ने 22 जून को बल्लभगढ़ में एक मुस्लिम युवक के पीट-पीटकर मार दिए जाने के मुद्दे पर चर्चा की. इस मुद्दे पर फरीदाबाद के उपायुक्त से एक रिपोर्ट मांगी गई थी. इस रिपोर्ट पर मंगलवार को चर्चा की गई.

रिजवी ने कहा कि आयोग ने जिला प्रशासन व पुलिस द्वारा दोषियों को पकड़ने व हालात को शांतिपूर्ण तरीके से संभालने के लिए की गई कार्रवाई पर संतोष जताया. रिजवी ने झारखंड में 29 जून को एक व्यापारी के भीड़ द्वारा पीटे जाने संबंधित मीडिया रिपोर्ट पर कहा कि उन्होंने अगले दिन (30 जून) झारखंड के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) को फोन किया और घटना के बारे में जानकारी ली.

और पढ़े -   NDTV ने BSE को खत लिखकर चैनल बिकने की खबर को किया ख़ारिज कहा, नही बदला स्वामित्व

उन्होंने कहा कि डीजीपी ने उन्हें हरसंभव कदम उठाने व आरोपी को गिरफ्तार करने का भरोसा दिया है. अब मीडिया में खबर आई है कि दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इसके अलावा एनसीएम ने तीन जुलाई को दिए अपने पत्र में घटना पर रामगढ़ के जिला मजिस्ट्रेट से एक विस्तृत रिपोर्ट देने की मांग की है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE