पुणे जानेमाने वकील और बीजेपी से निकाले गए राम जेठमलानी ने पठानकोट के बाद पाकिस्तान के प्रति केंद्र के रुख की जमकर आलोचना की है। उन्होंने कहा कि सरकार के पास इन हालात से निपटने के ‘काबिल लोग’ नहीं है। उन्होंने कहा, ‘आप (केंद्र) पाकिस्तान से बात करना चाहते हैं तो उनसे बातचीत जारी रखिए, लेकिन सरकार को मालूम होना चाहिए कि वे क्या बात कर रहे हैं? मुझे बेहद अफसोस के साथ कहना पड़ रहा है कि विदेश मंत्रालय में कोई भी इतना काबिल नहीं है।’

ramjethmalani1राज्यसभा के सांसद जेठमलानी ने पुणे में एक कार्यक्रम के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘पठानकोट का मामला बेहद गंभीर है और इसकी गहराई से जांच किए जाने की जरूरत है, लेकिन जिस तरह से सरकार पाकिस्तान के साथ पेश आ रही है वह माफी के लायक नहीं है।’ जेठमलानी ने कहा कि सरकार को पाकिस्तान के साथ बातचीत जारी रखनी चाहिए, लेकिन उसे पता होना चाहिए कि क्या बात करनी है?

जेठमलानी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने काले धन और वन रैंक वन पेंशन के मुद्दे पर देश को ठगा है। राम जेठमलानी ने उनकी तरफ से नेशनल हेराल्ड मामले में आरोपी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी की पैरवी की पेशकश संबंधी खबरों को भी खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि उनके बयान को तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया।

हाल ही में जेठमलानी ने कहा था कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को बचाने के लिए उन्हें 2010 में पार्टी में बुलाया जा रहा था, लेकिन इनकार करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई हुई। साभार: नवभारत टाइम्स


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE