mehbuba

हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की सुरक्षा बलों के हाथों मारे जाने के बाद शुरू हुई हिंसा अब तक पूरी तरह से थमी नहीं हैं. सत्ताधारी पीडीपी को कश्मीर के लोगों के गुस्से का सामना करना पड़ रहा हैं. हाल ही में पीडीपी के तीन विधायकों के आवास पर हमले हो चुके हैं, जिनमें से एक मंत्री भी है. प्रदर्शनकरियों के हमले से घायल पुलवामा से विधायक खलील बंध 18 जुलाई से दिल्ली के अस्पताल में भर्ती हैं.

राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती को भी मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट देने आए छात्रों के परिजनों के गुस्से का सामना करना पड़ा था. प्रदर्शनकारियों के गुस्से के कारण दक्षिण कश्मीर के करीब 10 पुलिस पोस्ट और स्टेशनों से सुरक्षाकर्मियों से खाली करा लिया गया है. बीजेपी के लगभग सारे विधायक कश्मीर को छोड़ जम्मू में रुके हुए हैं.

ऐसे में मुख्यमंत्री ने सुरक्षाकर्मियों को रोडों से गायब रहने के निर्देश दिए हुए हैं. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने पुलिस को कश्मीरी युवाओं से हिजबुल मुजाहिद्दीन कमांडर बुरहान वानी को मारने के लिए माफी मांगने को भी कहा है. उन्होंने आगे कहा, ‘सीएम की तुष्टीकरण की राजनीति के कारण पूरी घाटी जल रही है. यहां कोई कानून व्यवस्था नहीं है और हर किसी में डर और खौफ है.


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें