mol

6 दिसंबर यानि बाबरी मस्जिद की शहादत का दिन. इसी दिन 1992 में बाबरी मस्जिद को शहीद किया गया था. इस वर्ष बाबरी मस्जिद की शहादत की 24वी बरसी पर ऑल इंडिया जमात रजा-ए-मुस्तफा के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन ने मुसलमानों द्वारा बाबरी मस्जिद में नमाज अदा करने का ऐलान किया गया हैं.

बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर उन्होंने कहा कि  छह दिसंबर 1992 काला दिन था. जब आरएसएस नेताओं के इशारे पर बाबरी मस्जिद को शहीद कर दिया गया. 24 साल गुजर जाने के बाद भी इंसाफ नहीं मिला है इसीलिए इस साल छह दिसंबर को संगठन के कार्यकर्ता बाबरी मस्जिद में नमाज अदा कर मस्जिद निर्माण की दुआ करेंगे.

और पढ़े -   बाबरी मस्जिद शहादत मामले में सीबीआई कोर्ट ने की आडवाणी की हाजिरी माफी की अर्जी मंजूर

साथ ही मौलाना ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से अयोध्या में बाबरी मस्जिद का निर्माण कराने की मांग करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ‘सबका साथ सबका विकास’ की बात करते हैं. अगर उनका दिल साफ़ हैं तो बाबरी मस्जिद का निर्माण कराकर ‘सबका साथ सबका विकास’ दिखाएं.

वहीँ मौलाना शहामत रजा खां ने कहा कि यदि बाबरी मस्जिद का निर्माण नहीं कराया गया तो मुसलमान छह दिसंबर को कारोबार बंद कर इंसाफ की लड़ाई जारी रखेंगे. शांतिपूर्वक अयोध्या जाएंगे और वहां नमाज पढ़ेंगे.

और पढ़े -   जेठमलानी की खरी-खरी पर भड़के जेटली, कहा - अपमान की भी होती है हद, बढ़ा दूंगा मानहानि की राशि

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE