नई दिल्ली: जेएनयू में मनुस्मृति को जलाने को लेकर छात्रों और विश्वविद्यालय प्रशासन के बीच विवाद के कई हफ्तों बाद बुधवार को दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्रों ने प्राचीन ग्रंथ की प्रतियां जलाईं, जिसके बाद पुलिस ने इनमें से तीन छात्रों को हिरासत में ले लिया।

दिल्ली विश्वविद्यालय में मनुस्मृति जलाने को लेकर तीन छात्रों को हिरासत में लिया गयाहंसराज कॉलेज के बाहर जलाई गई मनुस्मृति
क्रांतिकारी युवा संगठन (केवाईएस) के कार्यकर्ताओं और वाम समर्थित ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (एआईएसए) ने मनुस्मृति को महिलाओं के लिए अपमानजनक ग्रंथ बताते हुए इसकी प्रतियां जलाईं। केवाईएस ने हंसराज कॉलेज के ‘जातिवदी प्रशासन’ के खिलाफ प्रदर्शन के प्रतीत के तौर पर कॉलेज के बाहर मनुस्मृति जलाई।

और पढ़े -   हिंदुत्व एवं हिन्दू की रक्षा करने के लिए सेना तैयार करेगी आरएसएस और बीजेपी

हंसराज कॉलेज में चार अप्रैल को कथित रूप से कॉलेज प्राचार्य के सामने उसके एक कार्यकर्ता पर हमला हुआ था। जबकि एआईएसएस ने बीआर अम्बेडकर की जयंती के अवसर पर कला संकाय में इसका आयोजन किया।

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, कानून व्यवस्था के मद्देनजर मौरिस नगर पुलिस थाने में तीन छात्रों को हिरासत में लिया गया और बाद में उन्हें रिहा कर दिया गया।

और पढ़े -   राष्ट्रवाद की भावना जागृत करने के लिए JNU में लगे भारतीय सेना का टैंक: वीसी

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE