नई दिल्ली | भारत के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मुसलमानों पर हो रहे हमलो की कड़ी निंदा करते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने एक नज्म के जरिये मोदी सरकार को नसीहत देने की कोशिश की. इसके अलावा उन्होंने उन लोगो को निशाने पर लिया जो मजहब के नाम पर देश को बांटने की कोशिश कर रहे है. यह पहला मौका है जब मनमोहन सिंह ने मोदी सरकार को किसी मामले में कठघरे में खड़ा किया है.

और पढ़े -   नई हज नीति की रिपोर्ट तैयार, इस महीने में कर दी जाएगी घोषणा: नकवी

गुरुवार को ईद मिलन के एक कार्यक्रम में शिरकत करने पहुंचे मनमोहन सिंह ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा की की देश में मजहब के नाम पर गलत असर फैलाया जा रहा है. फ़िलहाल जो देश में हो रहा है उसे देखकर मुझे अल्लामा इकबाल की एक नज्म याद आती है की ‘मजहब नही सिखाता आपस में बैर करना.. ‘ मनमोहन सिंह ने बिना किसी का नाम लिए मोदी सरकार पर भी हमला बोला.

और पढ़े -   कश्मीर पर मोदी के 'गोली और गाली' वाले बयान पर भडकी शिवसेना कहा, केवल धारा 370 हटाना ही एक मात्र हल

उन्होंने कहा की हम हिन्दुस्तान में रहने वाले तमाम बाशिंदो को कंधे से कन्धा मिलाकर हिंदुस्तान की हिफाजत करनी चाहिए. हमारे कानून, हमारे संविधान ने जो हमें सबक दिया है , ऐसा माहौल पैदा करे,  भाईचारे से गले मिले. बताते चले की हाल ही में मुस्लिम समुदाय पर हमले की कई घटनाये सामने आई है. इनमे कई लोगो को अपनी जान से भी हाथ धोना पड़ा है.

खासकर बल्लभगढ़ के 15 वर्षीय जुनैद की हत्या होने के बाद काफी लोग ऐसी घटनाओं के विरोध में खुलकर सामने आये है. इसी का नतीजा है की गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी को भी इस मामले में अपनी चुप्पी तोडनी पड़ी. उन्होंने साबरमती आश्रम से कहा की गौभक्ति के नाम पर लोगो की हत्या स्वीकार नही की जायेगी. समाज में हिंसा की कोई जगह नही है और किसी को भी कानून हाथ में लेने की इजाजत नही है.

और पढ़े -   स्वतंत्रता दिवस : लाल किले की प्राचीर से मोदी का भाषण , किया कश्मीर से लेकर तीन तलाक का जिक्र

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE