नई दिल्ली  मालदा में हुई हिंसा के बहाने केंद्र में मौजूद एनडीए सरकार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमलावर नहीं होने जा रही है। बीजेपी द्वारा की गई मांग पर केंद्र पश्चिम बंगाल में मालदा हिंसा की जांच के लिए कोई भी ऑफिशल टीम नहीं भेजेगा।
malda-kamlesh-tiwari759-620x400

मालदा में हुई हिंसा में प्रदर्शनकारियों के समूह ने पुलिस स्टेशन में आग लगा दी थी और कई वाहनों को नुकसान पहुंचाया था जिससे इलाके में तनाव फैल गया था। केंद्र सरकार ने फैसला किया है कि वह इसकी किसी भी जांच के लिए कोई टीम नहीं भेजेगी।

और पढ़े -   पेट्रोल-डीजल के बेलगाम होते दाम पर केन्द्रीय मंत्री का विवादित बयान कहा, तेल खरीदने वाला नही मर रहा भूखा, सोच समझकर लिया फैसला

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा, ‘इस समय कोई भी केंद्रीय टीम वहां का दौरा नहीं करेगी। लॉ ऐंड ऑर्डर एक राज्य का विषय है इसलिए बंगाल सरकार खुद ही इस स्थिति को देखेगी।’

बीजेपी का तीन सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को गृह मंत्री से मिला था और उसने मालदा हिंसा की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय कमिटी गठित करने की मांग की थी। प्रतिनिधिमंडल का कहना था कि इस हिंसा का संबंध नकली मुद्रा, नशीले पदार्थों की तस्करी और घुसपैठ से था। साभार: नवभारत टाइम्स

और पढ़े -   गाय पर आस्था रखने वाले लोग हिंसा नहीं करते: मोहन भागवत

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE