नई दिल्ली | पिछले कुछ महीनो से पुरे देश में गाय, बीफ और गौरक्षा मुख्य मुद्दा बने हुए है. खासकर केंद्र सरकार के नोटिफिकेशन जिसमे उन्होंने मारने के मकसद से मवेशियों की खरीद फरोख्त पर रोक लगा दी , के बाद यह मामला और तूल पकड़ गया है. कई प्रदेशो में सरकार के इस फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन हुए. लोगो का मानना है की केंद्र सरकार यह तय नही कर सकती की कौन क्या खायेगा?

इसी बहस में मेकमायट्रिप के सह संस्थापक कयुर जोशी भी कूद पड़े. उन्होंने ट्वीटर पर मोदी सरकार की आलोचना करते हुए कुछ ऐसा लिखा दिया की उनको बाद में अपना ट्वीटर अकाउंट ही डिलीट करना पड़ गया. इसके अलावा लोगो ने मेकमायट्रिप के खिलाफ भी मुहीम छेड़ दी. लोगो ने मेकमायट्रिप एप को डिलीट करने और ख़राब रेटिंग देने की अपील करते हुए हैश टैग #BoycottMakeMyTrip को ट्रेंड करना शुरू कर दिया.

और पढ़े -   मोहम्मद कैफ और शबाना आजमी ने तीन तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का किया स्वागत , हुए ट्रोल

दरअसल कयुर जोशी ने ट्वीट किया,’ मैं नरेन्द्र मोदी का प्रबल समर्थक हूँ और कारोबारी भी लेकिन खाने की आजादी के समर्थन में वो बीफ खायेंगे’. अपने अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा,’ अगर हिन्दू धर्म अपनी मर्जी का खाना खाने से रोकता है तो बेहतर है मैं हिन्दू न रहू’. कयुर यही नही रुके उन्होंने मोदी और बीजेपी की आलोचना करते हुए लिखा की मोदी और बीजेपी यह तय नही कर सकते की लोग क्या खायेंगे.

और पढ़े -   मोदी के न्यू इंडिया में पुरोहित का 'एनआईए इंडिया' भी शामिल

कयुर जोशी के इन ट्वीट से ट्वीटर पर बवाल मच गया. बीजेपी समर्थको ने उनको ट्रोल करना शुरू कर दिया और मेकमायट्रिप के खिलाफ अभियान छेड़ दिया. #BoycottMakeMyTrip के तहत समर्थको से मेकमायट्रिप को फ़ोन से हटाने की अपील की गयी. चौकाने वाली बात यह है की जिन कुछ लोगो ने #BoycottMakeMyTrip से ट्वीट करने शुरू किये उनमे से छह लोगो को खुद मोदी ट्वीटर पर फोलो करते है. इनमे नीरज दवे भी शामिल है जिन्होंने सबसे पहले इस हैश टैग से ट्वीट करने शुरू किये.

और पढ़े -   लापरवाही बनी मुजफ्फरनगर रेल हादसे की वजह, 24 की मौत और 150 से ज्यादा घायल

बवाल बढता देख कयुर जोशी ने पहले अपने ट्वीट को डिलीट किया और बाद में अपने अकाउंट को भी डिलीट कर दिया. मेकमायट्रिप के खिलाफ चले अभियान को देखते हुए मेकमायट्रिप के ट्वीटर हैंडल से ट्वीट किया गया की यह कयुर जोशी का निजी बयान है इसका मेकमायट्रिप से कोई लेना देना नही है. कंपनी की तरफ से ट्वीट करने के बाद भी बीजेपी समर्थको ने इसके खिलाफ मुहीम जारी रखी.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE