जम्मू कश्मीर  सरकार को लेकर पिछले ढाई महीने से चला गतिरोध ख़त्म हो रहा है। राज्य में पहली बार कोई महिला मुख्यमंत्री बनेगी। महबूबा मुफ़्ती के नेतृत्व में फिर बीजेपी-पीडीपी सरकार देखने को मिलेगी।

पीडीपी ने महबूबा मुफ्ती को पार्टी की ओर से मुख्यमंत्री पद के लिए चुन लिया है। पीडीपी विधायकों की निर्णायक बैठक में गुरुवार को महबूबा मुफ्ती (56) को पार्टी विधायक दल का नेता चुन लिया गया। पार्टी के वरिष्ठ नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने विधायक दल के नेता के लिए महबूबा के नाम का प्रस्ताव दिया, जिसका अब्दुर रहमान वीरी ने समर्थन किया।

इससे पहले महबूबा बिजबेहरा गईं। यहां उनके पिता और दिवंगत सीएम मुफ्ती मोहम्मद सईद की कब्र है। सब कुछ ठीक रहा तो अगले कुछ दिनों में राज्य में महबूबा मुफ़्ती के नेतृत्व में फिर बीजेपी-पीडीपी सरकार देखने को मिलेगी।

गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में जनवरी 7 को पूर्व मुख्यमंत्री मुफ़्ती मोहम्मद सईद के देहांत के बाद पीडीपी और बीजेपी दलों के बीच काफी रिश्तों के काफी उतार चढ़ाव देखने को मिला था।जिस कारण से राज्य में राज्यपाल शासन लागू कर दिया था। पीडीपी नेता और पूर्व मंत्री नईम अख्तर ने कहा- हमें उम्मीद है कि 29 मार्च तक सरकार बन जाएगी। इससे पहले, बीजेपी के महासचिव राम माधव ने बुधवार को कहा था कि पीडीपी ने सरकार बनाने को लेकर कोई नई शर्त नहीं रखी है।

हमें ढाई महीने तक इंतजार कराया : उमर

महबूबा मुफ़्ती के पीडीपी के विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने पीडीपी पर जमकर निशाना साधा। जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा कि पीडीपी को जवाब देना चाहिए कि आखिर क्यों उन्होंने सरकार के लिए हमें ढाई महीने तक इंतजार कराया? उमर ने कहा कि ऐसा क्या बदल गया कि पीडीपी केंद्र से कुछ भी नहीं मिलने के बाद भी सरकार बनाने को तैयार हो गई?

क्या बोले जितेंद्र सिंह

वहीं पीएमओ में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सरकार गठन पर शुक्रवार को विधायकों की होनी वाली बैठक के बाद फैसला लिया जाएगा। बीजेपी ने कभी अतिरिक्त मांग नहीं की। गठबंधन का जो एजेंडा पहला था, वहीं अभी भी है। (Live India)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

कमेंट ज़रूर करें