बुलधाना | हाल ही में संपन्न हुए विधानसभा चुनावो में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद ईवीएम् में छेड़छाड़ को लेकर काफी बहस छिड़ी. विपक्षी दलों ने आरोप लगाया की ईवीएम् में छेड़छाड़ की वजह से बीजेपी को प्रचंड जीत मिली. हालाँकि इलेक्शन कमीशन ऑफ़ इंडिया बार बार इस बात से इंकार करता रहा. यही नही चुनाव आयोग ने सभी पार्टियों को ईवीएम् हैक करने की भी चुनौती दी जिसमे कोई भी राजनीतिक दल सफल नही हो सका.

अब एक बार फिर ईवीएम् छेड़छाड़ का मामला बोतल से बाहर आ गया है. दरअसल महाराष्ट के बुलधाना जिला अधिकारी ने एक आरटीआई के जवाब में यह माना है की जिला परिषद चुनावो में इस्तेमाल हुई एक ईवीएम् में छेड़छाड़ चिन्हित हुई थी. उन्होंने बताया की उक्त ईवीएम् में कोकोनट निशान का बटन दबाने के बाद कमल के निशान की एलईडी लाइट जल रही थी.

और पढ़े -   महाराष्ट्र में फडनवीस की पत्नी का कंसर्ट, टिकेट बेचने का जिम्मा पुलिस पर

आरटीआई एक्टिविस्ट अनिल गलगाली ने मीडिया को बताया की अभी हाल ही में संपन्न हुए बुलधाना जिला पंचायत सदस्य के चुनावो में सुल्तानपुर बूथ पर इस्तेमाल हुई एक ईवीएम् में छेड़छाड़ पता चली थी. अनिल ने अपनी आरटीआई का हवाला देते हुए कहा की मैंने बुलधाना जिलाधिकारी के समक्ष आरटीआई लगाकर रिटर्निंग ऑफिसर की की जाँच रिपोर्ट के बारे में जानकारी मांगी थी.

और पढ़े -   ईद के दिन सडको पर नमाज पढने से रोक नही तो थानों में जन्माष्टमी मनाने पर किस हक़ से लगाये रोक - योगी आदित्यनाथ

बुलधाना जिलाधिकारी कार्यालय से मिले जवाब में बताया गया सुल्तानपुर के बूथ नम्बर 56 पर चुनाव के दौरान एक ईवीएम् में छेड़छाड़ का मामला सामने आया था. यहाँ मतदाता ने शिकायत दर्ज कराई थी की पहले नम्बर पर मौजूद कोकोनट का बटन दबाने के बावजूद चौथे नम्बर स्थित कमल के निशान के आगे की लाइट जल रही है. कई शिकायत मिलने के बाद पोलिंग अधिकारी ने रिटर्निंग ऑफिसर को इसकी जानकारी दी.

और पढ़े -   देखे तस्वीरें: देश भर के मदरसों में बड़ी शान से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस

इसके बाद जिलाधिकारी ने रिटर्निंग ऑफिसर से उक्त ईवीएम् के बारे में रिपोर्ट मांगी तो उन्होने अपने जवाब में यह माना की ईवीएम् में कोकोनट का बटन दबाने के बाद कमल के निशान के आगे की लाइट जल रही थी. जिलाधिकारी के इस खुलासे के बाद विपक्षी दल एक बार फिर इस मुद्दे को लेकर मोदी सरकार को घेर सकता है. इसके अलावा चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर भी सवाल खड़े हो सकते है?


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE