तिरुवंतपुरम | केरल में एक छात्र संगठन की मैगज़ीन में राष्ट्रगान और राष्ट्रिय ध्वज को लेकर कुछ आपत्तिजनक तस्वीरे छपने के बाद विवाद पैदा हो गया है. हालाँकि मैगज़ीन में इसे व्यंग चित्र के तौर पर दिखाया गया है लेकिन फिर भी बीजेपी समर्थित छात्र संगठन ने इस मामले में मैगज़ीन निकालने वाले छात्र संगठन के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है. उधर कॉलेज के प्रिंसिपल ने पुरे मामले में पैदा हुए विवाद को निरर्थक करार दिया.

और पढ़े -   पीएम मोदी को जन्मदिवस पर किसानों से मिले 68 पैसे के चेक

दरअसल सीपीआई (एम्) समर्थित छात्र संगठन स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ़ इंडिया (एसएफआई ) ने ब्रेनन कॉलेज की 125वी वर्षगांठ के मौके पर एक मैगज़ीन निकाली है. ‘पेलेट्स’ नामक इस मैगज़ीन में राष्ट्रगान और राष्ट्रिय ध्वज को लेकर कुछ आपत्तिजनक तस्वीरे प्रदर्शित की गयी है. इन तस्वीरो में दिखाया गया है की थिएटर में राष्ट्रगान बज रहा है जबकि एक महिला और पुरुष सेक्स कर रहे है.

और पढ़े -   गुजरात, हिमाचल विधानसभा चुनावों के लिए VVPAT का प्रयोग हुआ अनिवार्य

तस्वीर के बैकग्राउंड में राष्ट्रध्वज को भी दिखाया गया है. मैगज़ीन के जारी होने के कुछ देर बाद जैसे ही लोगो ने इस तस्वीर को देखा तो हंगामा मच गया. लोगो ने मैगज़ीन निकालने वाले छात्र संगठन के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है. इसके अलावा बीजेपी समर्थित एबीवीपी ने भी एसएफआई के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है. पत्रिका निकालने वाला छात्र संगठन थालसरे के सरकारी कॉलेज से सम्बंधित है.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुद्दे पर केंद्र ने दाखिल किया हलफनामा, कहा - राष्ट्र की सुरक्षा के लिए खतरा

उधर कॉलेज के प्रिंसिपल मुरलीदास ने छात्र संगठन के खिलाफ किसी भी कार्यवाही से इनकार किया. उन्होंने कहा की मैगज़ीन में कुछ भी गलत नही है. केवल संकुचित मानसिकता वाले लोगो को इस चित्र में गलत दिखाई दे रहा है. हम छात्रों को समझाने का प्रयास कर रहे है. बताते चले ब्रेनन कॉलेज वही कॉलेज है जिससे केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने भी शिक्षा ग्रहण की है.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE