राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने झारखंड सरकार को एक नोटिस भेजा है। यह नोटिस राज्य में मुस्लिम मवेशी व्यापारियों को निशाना बनाकर होने वाले हमलों के आरोपों के संबंध में जारी किया गया है।

HinduJHARKHAND

‘इंडियन एक्सप्रेस’ की रिपोर्ट के मुताबिक, आयोग को 29 मार्च को एक शिकायत मिली थी। जिसमें कहा गया कि मवेशियों का व्यापार करने वाले मुस्लिम व्यापारियों को निशाना बनाकर हमले किए जा रहे हैं। इसके अलावा प्रशासन लातेहार जिले में 18 मार्च को दो ऐसे ही व्यापारियों की हत्या के मामले को ‘उपयुक्त ढ़ंग’ से नहीं ले रहा है। एनएचआरसी ने एक बयान में यह कहा गया है।

झारखंड के प्रधान सचिव को जारी नोटिस में राज्य सरकार को विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के लिए 4 सप्ताह का समय दिया गया है। शिकायत के मुताबिक, इस घटना में प्रशासन की तरफ से एक निजी विवाद का एंगल दिया गया है। इसमें कहा गया है कि ऐसा कथित “गौ-रक्षक समूहों को बचाने के लिए” किया जा रहा है। जो अल्पसंख्यक समुदायों को निशाना बना रहे हैं।

दोनों मृतकों इम्तियाज खान और मजलुम के परिवारों को 1 लाख रुपए के हर्जाने की घोषणा की गई है। शिकायत में कहा गया कि ये व्यापारी चौपाए जानवरों को मेले में ले जा रहे थे। जहां उन्हें भीड़ ने रोका और पिटाई करने के बाद फांसी पर लटका दिया। (News24)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें