देश के कई बैंकों को चूना लगाकर कथित रूप से विदेश भाग गए शराब कारोबारी विजय माल्या पर अब यूपी की जनता के करोंड़ों रुपए ठगकर ले जाने के आरोप लगे हैं.

बैंकों को ही नहीं, माल्या ने यूपी में भी वक्फ बोर्ड को करोंड़ों रुपए का लगाया चूना

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने बताया कि अगर समय रहते तत्कालीन एसएसपी ने उनकी एफआईआर दर्ज कर ली होती तो माल्या आज भारत में ही होता और उससे वसूली हो रही होती.

वसीम रिजवी ने बताया कि 2015 के जुलाई महीने में वक्फ को पता चला कि माल्या ने मेरठ में वक्फ संपति पर बनी अपनी शराब की फैक्ट्री की जमीन को फर्जी तरीके से अफ्रीकी कंपनी सैब मिलर इंडिया लिमिटेड को बेच दिया है.

15 जुलाई 2015 को विजय माल्या को इस संबंध में नोटिस देकर अपना पक्ष रखने को कहा गया. माल्या इस पर हाईकोर्ट गए, जहां उनकी रिट खारिज हुई थी.

बोर्ड के चेयरमैन ने बताया कि विजय माल्या के फरार होने के चलते अब सैब मिलर से जमीन जब्त करने की कार्यवाही शुरू की गई है. बोर्ड ने सैब मिलर को नोटिस जारी कर एक महीने में जमीन वक्फ के हवाले करने को कहा है. ऐसा न करने पर बोर्ड कानूनी कार्यवाही करेगा और वक्फ की जमीन को सुरक्षित करने के लिए कदम उठाएगा. (pradesh18)


लाइक करें :-


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें

Facebook Comment

Related Posts

loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें