लखनऊ | मंगलवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ मेट्रो का उद्घाटन कर इसे आम जनता के लिए खोल दिया। बुधवार सुबह छह बजे आम जनता के लिए लखनऊ मेट्रो ने अपना पहला सफर शुरू किया। इसको लेकर लखनऊ की जनता में काफी उत्साह भी देखा गया लेकिन यह उत्साह जल्द ही डर में बदल गया. क्योकि मेट्रो पहले ही दिन ट्रैक पर ख़राब हो गयी.

दरअसल अपने पहले सफर पर निकली लखनऊ मेट्रो आरामबाग स्टेशन पर पहुँचते ही ख़राब हो गयी. ट्रैक पर खड़ी मेट्रो को ठीक करने के लिए इंजीनियर को बुलाया गया लेकिन वो इसे ठीक नहीं कर पाए. इसके बाद दूसरी  मेट्रो को बुलाया गया और सभी यात्रियों को सीढ़ियों के के जरिए निकाला गया. मेट्रो से बाहर निकले लोगो के चेहरे पर डर साफ़ देखा जा सकता था. इस दौरान  मेट्रो के प्रति काफी गुस्सा भी देखा गया.

और पढ़े -   दशहरे और मोहर्रम पर नही बजेगा डीजे और लाउडस्पीकर, योगी सरकार ने दुर्गा प्रतिमा और ताजिया की ऊंचाई भी की निर्धारित

सुबह 6 बजे लखनऊ मेट्रो ट्रांसपोर्ट नगर से अपने सफर पर निकली। थोड़ी ही देर में यह चारबाग स्टेशन पर पहुंची। तब तक सब ठीक ठाक चल रहा था , लेकिन जैसे ही मेट्रो आरामबाग पहुंची यह ख़राब हो गयी. इसकी वजह से मेट्रो का एक ट्रैक कई घंटो तक बाधित रहा. जब एक घंटे तक भी यह  ठीक नहीं हुई तो दूसरी मेट्रो को बुलाकर इसे ले जाया गया. अपने पहले ही सफर में मेट्रो के हांफने से प्रबंधन के सारे दावे फेल हो गए.

और पढ़े -   रोहिंग्या मुस्लिम मामले में मोदी पर बरसे मणिशंकर कहा, भारतीय मुस्लिमो को 'कुत्ता' समझने वाले से क्या रखे उम्मीद

बताते चले की मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ मेट्रो का उद्घाटन किया था. उनके साथ केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राजयपाल राम नाईक भी मौजूद रहे.  इस दौरान पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ के बीच लखनऊ मेट्रो का श्रेय लेने की भी होड़ दिखाई दी. अखिलेश ने ट्वीट कर कहा की इंजन तो पहले ही लग चूका था अब डब्बे तो आएंगे ही.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE