10001

नागालैंड के दीमापुर एयरपोर्ट पर पकडे गये 5.5 करोड़ के पुराने नोट बीजेपी समर्थक सांसद नेफियू रियो के दामाद के निकले हैं. केंद्रीय जांच एजेंसियां व सीआइसएफ के अधिकारीयों द्वारा 500 और 1000 के बंद किए जा चुके नोटों के रूप में मिली ये राशि हवाईअड्डे से गायब हो चुकी थी.

नगालैंड पुलिस के प्रमुख एलएल दोउंगल ने इस पकड़ी गई राशि को “सीआईएसएफ द्वारा जब्त किए गए पैसे आयकर विभाग के अधिकारियों को सौंप दिए जाने का दावा किया था लेकिन दूसरी तरफ आयकर अधिकारियों ने इससे पल्ला झाड लिया था. अचानक नगा कारोबारी अनातो झिमोमी ने आयकर छूट से जुड़े प्रमाणपत्र दिखाते हुए इस राशि पर अपना अधिकार जताया. जिसके बाद ये पैसे आयकर विभाग ने उन्हें वापस कर दिया गया.

और पढ़े -   कोलकाता बना कश्मीर, पुलिस बलों के साथ वामपंथियों की मारपीट और पत्थरबाजी

याद रहें की झिमोमी नगालैंड पीपल्स फ्रंट के नेता और राज्य के एकमात्र सांसद नेफियू रियो के दामाद हैं. रियो केंद्र की बीजेपीनीत एनडीए सरकार के समर्थक हैं. झिमोमी के ससुर नेफियू नगालैंड के तीन बार मुख्यमंत्री रह चुके हैं. झिमोमी के पिता खेकिहो झिमोमी भी नगा पीपल्स फ्रंट पार्टी के राज्य सभा सांसद रह चुके हैं.

झिमोमी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. झामोमी ने हिसार के छोटे एयरफील्ड की साधारण सुरक्षा व्यवस्था का फायदा उठाते हुए एक चार्टेड विमान से बंद किए गए 500 और 1000 के नोटों में कम से कम 11 करोड़ रुपये दीमापुर पहुंचा चुके थे. इन पैसों को झिमोमी ने अपने बैंक खातों में जमा कराया. आयकर विभाग को पता चला है कि झिमोमी ने कथित तौर पर अपने दिमापुर स्थित एक्सिस बैंक के खाते में पहले भी सात करोड़ रुपये जमा कराए थे.

और पढ़े -   ओवैसी की अमित शाह को चुनौती कहा, दम है तो हैदराबाद से चुनाव लड कर दिखाए

दिल्ली स्थित आयकर विभाग और खुफिया अधिकारियों को अंदेशा था कि बंद किए गए नोटों के रूप में बरामद साढ़े तीन करोड़ रुपये किसी बड़े मनी लॉन्डरिंग रैकेट का हिस्सा हो सकते हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE