लखनऊ | मंगलवार को मध्यप्रदेश की भोपाल-उज्जैन एक्सप्रेस में हुए बम धमाके के बाद पुरे देश में ISIS के ‘खुरासान’ मोड्यूल की चर्चा हो रही है. यूपी और एमपी एटीएस ने पकडे गए संदिग्ध आतंकियों को खुरासान मोड्यूल से जुड़े होना बताया है. हालाँकि यूपी पुलिस का कहना है की पकडे गए संदिग्ध आतंकियों का ISIS से कोई लिंक नही है जबकि मध्यप्रदेश पुलिस की राय इससे बिलकुल जुदा है.

दरअसल लखनऊ एनकाउंटर में मारे गए संदिग्ध आतंकी सैफुल्ला के घर से जो सबूत बरामद हुए है वो इस और इशारा करते है की पकडे गए सभी आतंकी और सैफुल्ला ISIS के खुरासान मोड्यूल से खासे प्रभावित थे. इसलिए उन्होंने खुद ही एक खुरासान मोड्यूल तैयार किया. कानपुर-लखनऊ में सक्रिय इस मोड्यूल ने खुद ही कुछ जगह विस्फोट करने की योजना बनायी. इसलिए उन्होंने इन्टरनेट से बम बनाने की ट्रेनिंग भी ली.

आखिर यह खुरासान मोड्यूल है क्या? दरअसल ISIS ने दुनिया में अपने प्रभाव को बढाने के लिए दुनिया के बाकी हिस्सों में भी ISIS का परचम लहराने का फैसला किया. इसके लिए उन्होंने ईराक सीरिया की तर्ज पर दुनिया को कई हिस्सों में बाँट उनको एक नाम दे दिया. ISIS मानता था की अफगानिस्तान और पाकिस्तान में पैठ बनाना आसान है लेकिन हिंदुस्तान के मामले में यह थोडा मुश्किल होगा.

इसलिए ISIS ने भारत के उत्तरी राज्यों को और अफगानिस्तान, पाकिस्तान को मिलकर एक नक्शा तैयार किया. इस पुरे इलाके को उन्होंने खुरासान नाम दिया. ISIS का मकसद इस पुरे इलाके पर कब्ज़ा कर खुरासान बनाने का था. बाद में उन्होंने इस नक्शे में बांग्लादेश, श्रीलंका और नेपाल को भी जोड़ लिया. लेकिन ISIS की फ़िलहाल की स्थिति को देखते हुए उनके सपने पुरे होते नही दिख रहे.

ISIS के इसी खुरासान मोड्यूल से पकडे गए संदिग्ध आतंकी प्रभावित थे. इसके लिए उन्होंने ISIS के साहित्य दबिक का गहन अध्यन किया और स्वयंभू एक ग्रुप बनाया. यूपी पुलिस के अनुसार इन आतंकियों का ISIS से किसी भी तरह के लिंक होने के कोई सबूत नहीं मिले है. हालाँकि एमपी पुलिस का कहना है की ट्रेन में ब्लास्ट में दौरान जिस पाइप का इस्तेमाल किया गया उस पर ISIS लिखा गया एवं इन्होने इसकी एक फोटो सीरिया में ISIS हैंडलर को भी पोस्ट की.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

अभी पढ़ी जा रही ख़बरें

SHARE