तिरुवंतपुरम | किसी भी फिल्म इंडस्ट्री में नयी अभिनेत्रियों के लिए पाँव जमाना बेहद मुश्किल काम है. इस दौरान कुछ अभिनेत्री शोषण का शिकार भी होती है. यही कारण है की फिल्म इंडस्ट्रीज के अन्दर कास्टिंग काउच की कई घटनाये सामने आ चुकी है. नयी अभिनेत्रियों का फिल्मो में काम दिलाने के नाम पर शोषण होता है. लेकिन केरल के एक सांसद और अभिनेता के अनुसार मलयालम फिल्म इंडस्ट्री इन सबसे अछूती है.

माननीय सांसद यही नही रुके उन्होंने दो कदम आगे बढ़ते हुए कहा की आजकल अगर किसी महिला के साथ कुछ गलत हो जाता है तो मीडिया को तुरंत इसकी जानकारी हो जाती है. लेकिन कुछ बुरी महिलाये शायद बिस्तर तक जाने के लिए भी तैयार हो जाये. सांसद के इस बयान पर कई लोगो और संगठनों ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है. हालाँकि माननीय सांसद की मामले में सफाई भी सामने आई है.

और पढ़े -   मदरसों में राष्ट्रगान नही गाने की अपील पर मौलाना असजद रजा खान के खिलाफ कोर्ट सख्त , पुलिस से मांगी रिपोर्ट

दरअसल केरल के मशहूर एक्टर और सांसद इनोसेंट , एसोसिएशन ऑफ़ मलयालम मूवी आर्टिस्ट (AMMA) के अध्यक्ष है. इसलिए उन्होंने मलयालम फिल्म इंडस्ट्री को पाक साफ़ बताते हुए कहा की कास्टिंग काउच मलयालम फिल्म इंडस्ट्री में नही होता. यह तो सिर्फ कुक बुरी महिलाओं की वजह से हो रहा है. क्योकि अब पुराना जमाना जा चूका है. अब अगर किसी महिला के साथ कुछ गलत होता है तो मीडिया में तुरन्त इसकी जानकारी हो जाती है.

और पढ़े -   सरकार लगाने जा रही है एक से अधिक बार हज पर रोक

इनोसेंट ने यह भी कहा की बुरी महिलाये बिस्तर पर जाने के लिए भी तैयार हो जाती है. उनके इस बयान पर बवाल होना था और हुआ भी. वुमन इन सिनेमा नाम के संगठन ने उनके इस बयान की आलोचना करते हुए कहा की हम उनके बयान को नहीं मान सकते की मलायम फिल्म इंडस्ट्री में महिला कलाकारों का यौन शोषण नही होता. अभी भी कई कलाकार ऐसे है जो कई तरह के यौन शोषण का सामना कर रहे है. यही नही हमारे संगठन में काम कर रही कुछ महिला कलाकार भी यौन शोषण का शिकार हो चुकी है.

और पढ़े -   ईद के दिन सडको पर नमाज पढने से रोक नही तो थानों में जन्माष्टमी मनाने पर किस हक़ से लगाये रोक - योगी आदित्यनाथ

Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Facebook Comment
loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें

SHARE